नडाल और जोकोविच के बीच फ़ाइनल

रफ़ाएल नडाल और नोवाक जोकोविच इमेज कॉपीरइट Reuters

साल की सबसे प्रतिष्ठित ग्रैंड स्लैम टेनिस प्रतियोगिता के फ़ाइनल में शीर्ष वरीयता प्राप्त स्पेन के रफ़ाएल नडाल का मुक़ाबला सर्बिया के नोवाक जोकोविच से होगा.

सोमवार को जोकोविच एटीपी रैंकिंग में नडाल को पछाड़कर नंबर वन बनने वाले हैं, लेकिन नडाल का कहना है कि इससे उनके विंबलडन अभियान पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

एक समय नडाल पर प्रतियोगिता छोड़कर हटने का ख़तरा मँडरा रहा था, लेकिन अपनी चोट से उबरते हुए नडाल ने सेमी फ़ाइनल में ब्रिटेन के एंडी मरे को हराकर फ़ाइनल में जगह बनाई.

दूसरू ओर सर्बिया के नोवाक जोकोविच भी काफ़ी अच्छे फ़ॉर्म में हैं और उन्होंने सेमी फ़ाइनल में जो विल्फ़्रेड सोंगा को बेहतरीन प्रदर्शन करके हराया.

सोंगा ने ही ख़िताब के बड़े दावेदार माने जाने वाले रोजर फ़ेडरर को क्वार्टर फ़ाइनल में शिकस्त दी थी.

फ़ाइनल

मौजूदा चैम्पियन रफ़ाएल नडाल विंबलडन में वर्ष 2008 से लगातार 20 मैच जीत चुके हैं. वर्ष 2009 में चोट के कारण उन्होंने विंबलडन में हिस्सा नहीं लिया था.

अगर इस बार वे जीते, तो ये उनका विंबलडन का तीसरा और 11वाँ ग्रैंड स्लैम ख़िताब होगा. नडाल पाँचवीं बार विंबलडन का फ़ाइनल खेल रहे हैं. जबकि जोकोविच का ये पहला फ़ाइनल है.

नडाल ने कहा, "मैंने कभी ये नहीं सोचा था कि मैं विंबलडन के पाँच फ़ाइनल खेलूँगा. मैं मानता हूँ कि ऐसा कई वर्षों की मेहनत से संभव हो पाया है."

अगर इस साल की बात करें तो ये पाँचवीं बार है कि नडाल और जोकोविच आमने-सामने हैं. इससे पहले के सभी चार मुक़ाबलों में जोकोविच की विजय हुई है.

लेकिन जोकोविच विंबलडन जीत कर अपना सपना पूरा करना चाहते हैं. जोकोविच ने कहा, "मैं इस ट्रॉफ़ी को जीतना चाहता हूँ. विंबलडन के फ़ाइनल में पहुँचना मेरा सपना था."

जोकोविच भी मानते हैं कि इस साल चार बार नडाल को हराने का मनोवैज्ञानिक फ़ायदा उन्हें मिलेगा.

संबंधित समाचार