जीत के साथ वापसी का जश्न

टेलर इमेज कॉपीरइट AP
Image caption कप्तान टेलर को मैन ऑफ़ द मैच चुना गया

ज़िम्बाब्वे की टीम ने बांग्लादेश को 130 रनों से हराकर टेस्ट क्रिकेट में अपनी वापसी का जश्न मनाया है.

छह साल बाद टेस्ट क्रिकेट में वापसी करने वाली ज़िम्बाब्वे की टीम ने हरारे में हुए एकमात्र टेस्ट मैच में बांग्लादेश को मात दी.

ज़िम्बाब्वे ने जीत के लिए बांग्लादेश के सामने 375 रनों का लक्ष्य रखा था, लेकिन बांग्लादेश की टीम 244 रन बनाकर ही आउट हो गई.

जनवरी 2005 में ज़िम्बाब्वे ने टेस्ट क्रिकेट न खेलने का फ़ैसला किया था. उस समय ज़िम्बाब्वे की टीम कई तरह के संकट से गुज़र रही थी.

हरारे में हुए टेस्ट में ज़िम्बाब्वे ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए अपनी पहली पारी में 370 रनों का स्कोर खड़ा किया था, जिसमें मासाकाद्ज़ा के 104, सिबांदा के 78 और टेलर के 71 रन शामिल थे.

प्रदर्शन

जवाब में बांग्लादेश की टीम अपनी पहली पारी में 287 रन ही बना पाई. मोहम्मद अशरफ़ुल ने 73 और साकिब अल हसन ने 68 रन बनाए. शहरयार नफ़ीस ने 50 रनों का योगदान दिया.

इस तरह पहली पारी के आधार पर ज़िम्बाब्वे को 83 रनों की बढ़त हासिल हुई. ज़िम्बाब्वे ने अपनी दूसरी पारी पाँच विकेट पर 291 रन बनाकर घोषित कर दी. इस बार कप्तान ब्रैंडन टेलर ने शतक लगाया और 105 रन बनाए. टैबू ने 59 रन बनाए.

बांग्लादेश को जीत के लिए 375 रनों का लक्ष्य मिला लेकिन पूरी टीम 244 रन बनाकर आउट हो गई.

ज़िम्बाब्वे के कप्तान टेलर को मैन ऑफ़ द मैच चुना गया.

संबंधित समाचार