एटो बने महंगे खिलाड़ियों में से एक

सैमुएल एटो

कैमरून के फ़ुटबॉल खिलाड़ी सैमुएल एटो दुनिया के सबसे महंगे फ़ुटबॉलर में से एक होने जा रहे हैं.

वे रूस के फ़ुटबॉल क्लब आंशी माखाचकला में शामिल हो रहे हैं और इस क्लब ने उन्हें 10 लाख यूरो (क़रीब साढ़े छह करोड़ रुपए) प्रति वर्ष का भुगतान करना स्वीकार कर लिया है.

पहले कहा जा रहा था कि उन्हें वर्ष 17.5 लाख यूरो का भुगतान किया जा सकता है जिससे कि वे दुनिया के सबसे महंगे खिलाड़ी बन जाते लेकिन सौदा 10 लाख पर ही रुक गया.

इस तरह से रियल मैड्रिड के क्रिस्टियानो रोनॉल्डो अभी भी दुनिया के सबसे महंगे फ़ुटबॉल खिलाड़ी हैं जिन्हें 12 लाख यूरो प्रति वर्ष का भुगतान किया जाता है.

तीन साल का अनुबंध

तीस वर्ष के सैमुएल एटो अब तक इंटर मिलान के लिए खेल रहे थे. वे तीन साल तक अफ़्रीका के सर्वश्रेष्ठ फ़ुटबॉलर रह चुके हैं.

नए क्लब से उनका अनुबंध तीन साल के लिए है.

ये पूछे जाने पर कि क्या एटो की इतनी क़ीमत लगाना ठीक है, क्लब के प्रवक्ता एलेक्ज़ेंडर उदात्सोव ने कहा, "क्यो नहीं, ये बहुत अच्छा सौदा है."

उन्होंने कहा, "वे हमारे क्लब की चैंपियंस लीग तक पहुँचने की आकांक्षाओं को पूरा करेंगे. हमारा क्लब एक बड़ी टीम बनाने की कोशिश में लगा हुआ है और सैमुएल को अनुबंधित करना एक बड़ा क़दम है."

मॉस्को के बीबीसी संवाददाता का कहना है कि आंशी माखाचकला ने पाँच शीर्ष यूरोपीय खिलाड़ियों को अनुबंधित किया है.

आंशी फ़ुटबॉल क्लब के मालिक अरब तेल उद्योगपति सुलेमान कारिमोव हैं और वे समस्याग्रस्त कॉकसस इलाक़े में रहते हैं.

लेकिन उनकी फ़ुटबॉल टीम के खिलाड़ी मॉस्को में ही रहते हैं और वे माखाचकला, दागीस्तान सिर्फ़ घरेलू मैच खेलने के लिए जाते हैं.

संबंधित समाचार