कोच्चि की टीम आईपीएल से बाहर

कोच्चि टस्कर्स केरला टीम
Image caption कोच्चि टस्कर्स केरला का आईपीएल से नाता टूटा

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) से कोच्चि टस्कर्स केरला की टीम को हटाने का फ़ैसला किया है.

बीसीसीआई ने ये फ़ैसला बैंक गारंटी की रक़म का भुगतान न करने के कारण किया है. मुंबई में बीसीसीआई की सालाना आम बैठक में यह फ़ैसला किया गया.

बोर्ड के अध्यक्ष का पद संभालने के बाद एन श्रीनिवासन ने पत्रकारों को बताया, "बकाया न चुकाने के कारण बीसीसीआई ने अपने क़ब्ज़े में मौजूद बैंक गारंटी को भुनाने का फ़ैसला किया है और ये भी फ़ैसला किया है कि अनुबंध की शर्तों को तोड़ने के कारण कोच्चि टस्कर्स को आईपीएल से हटाया जा रहा है."

श्रीनिवासन ने इससे इनकार किया कि कोच्चि टस्कर्स अगर बैंक गारंटी उपलब्ध कराए, तो उसे आईपीएल में वापस लिया जा सकता है. उन्होंने स्पष्ट किया कि अनुबंध की शर्तों को तोड़ने के कारण अब ऐसा नहीं हो सकता.

बीसीसीआई के इस फ़ैसले के बाद अब आईपीएल में सिर्फ़ नौ टीमें रह जाएँगी.

नई टीम

इस बैठक में कई अधिकारियों की नियुक्ति की भी घोषणा की गई. केंद्रीय मंत्री राजीव शुक्ला को चिरायु अमीन की जगह आईपीएल का नया चेयरमैन बनाया गया है.

के श्रीकांत चयन समिति के प्रमुख के पद पर बने रहेंगे. मोहिंदर अमरनाथ को भी चयन समिति में जगह मिली है. वे यशपाल शर्मा की जगह लेंगे.

संजय जगदाले को बीसीसीआई का सचिव बनाया गया है. अनुराग ठाकुर को संयुक्त सचिव और अजय शिर्के को कोषाध्यक्ष बनाया गया है.

पत्रकारों के साथ बातचीत में श्रीनिवासन ने यह भी स्पष्ट कर दिया कि मौजूदा रूप में उन्हें डीआरएस स्वीकार नहीं है और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की अगली बैठक में वे इस मुद्दे को उठाएँगे.

इंग्लैंड दौरे पर टीम के ख़राब प्रदर्शन पर भी उन्होंने टिप्पणी की और बताया कि इसकी जाँच के लिए एक समिति गठित की जाएगी.

संबंधित समाचार