रोमांचक हुआ दिल्ली टेस्ट, वेस्टइंडीज़ को बढ़त

प्रज्ञान ओझा इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption प्रज्ञान ओझा ने पहली पारी में छह विकेट लिए

दिल्ली के फ़िरोज़शाह कोटला मैदान में भारत और वेस्टइंडीज़ के बीच चल रहे दूसरे टेस्ट का दूसरा दिन घटनाक्रमों से भरपूर रहा.

दूसरे दिन कुल 17 विकेट गिरे, वेस्टइंडीज़ ने अपने आख़िरी पाँच विकेट 35 रन पर गँवाए, भारत का पहला विकेट 89 रन पर गिरा और फिर भी पूरी टीम 209 रन पर आउट हो गई और वेस्टइंडीज़ ने अपनी दूसरी पारी में 21 रन पर दो विकेट गँवाए.

और तो और भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने दूसरी पारी की शुरुआत दो स्पिन गेंदबाज़ों प्रज्ञान ओझा और आर अश्विन से कराई और उन्हें इसका लाभ भी मिला, जब भारत को दो विकेट मिले.

इन सबके बीच पहली पारी के आधार पर वेस्टइंडीज़ को मिली 95 रनों की बढ़त इस टेस्ट में निर्णायक हो सकती है और इस कारण मैच पर फ़िलहाल वेस्टइंडीज़ की पकड़ भारत के मुक़ाबले ज़्यादा दिखती है.

साथ ही दिल्ली के कोटला मैदान की पिच पर भी कई सवाल उठ रहे हैं. पिच काफ़ी धीमी तो है ही, कभी-कभी स्वाभाविक से कम उछाल के कारण गेंद बल्लेबाज़ों को चकमा दे रही है.

खेल

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption डेरेन सैमी ने अच्छी गेंदबाज़ी की

दूसरे दिन का खेल जब शुरू हुआ, उस समय वेस्टइंडीज़ का स्कोर था पाँच विकेट के नुक़सान पर 256 रन. इसमें वेस्टइंडीज़ की टीम ने 48 रन और जोड़े और टीम 304 रन बनाकर आउट हो गई.

शिवनारायण चंद्रपॉल सर्वाधिक 118 रन बनाकर आठवें विकेट के रूप में आउट हुए. भारत की ओर से प्रज्ञान ओझा ने 72 रन देकर छह विकेट लिए. आर अश्विन ने तीन विकेट लिए, जबकि ईशांत शर्मा को एक विकेट मिला.

जब भारत ने अपनी पहली पारी की शुरुआत की, तो लगा टीम अच्छा स्कोर खड़ा करेगी. घरेलू पिच पर खेल रहे गौतम गंभीर और वीरेंदर सहवाग को वेस्टइंडीज़ का कोई गेंदबाज़ परेशान नहीं कर पा रहा था.

सहवाग अपने चिर-परिचित अंदाज़ में खेल रहे थे, तो गंभीर भी उनका अच्छा साथ निभा रहे थे. लेकिन गंभीर के दुर्भाग्यपूर्ण तरीक़े से रन आउट होते ही पासा पलट गया.

दुर्भाग्यपूर्ण रन आउट

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption वीरेंदर सहवाग ने सर्वाधिक 55 रन बनाए

वीरेंदर सहवाग का एक झन्नाटेदार स्ट्रेट शॉट गेंदबाज़ी डेरेन सैमी के हाथ से लगता हुआ स्टम्प पर जाकर लगा, उस समय नॉन स्ट्राइकर गौतम गंभीर क्रीज़ से बाहर थे और आउट हो गए.

गंभीर ने 41 रन बनाए. अपना अर्धशतक पूरा कर चुके सहवाग को विकेटकीपर कार्ल्टन बॉव ने बेहतरीन तरीक़े से स्टम्प आउट किया. सहवाग ने 55 रन बनाए.

इसके बाद अपने सौवें अंतरराष्ट्रीय शतक का इंतज़ार कर रहे सचिन तेंदुलकर सिर्फ़ सात रन बना पाए, तो वीवीएस लक्ष्मण ने एक रन बनाए. युवराज ने 23 रन बनाए, तो धोनी अपना खाता भी नहीं खोल पाए.

राहुल द्रविड़ एक छोर से जमे रहे और अपना अर्धशतक भी पूरा किया. आख़िरकार वे 54 रन बनाकर आउट हो गए. भारत की पूरी टीम 209 रन बनाकर आउट हो गई और वेस्टइंडीज़ को 95 रनों की बढ़त मिली.

प्रदर्शन

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption वेस्टइंडीज़ की टीम को 95 रनों की बढ़त मिली है

वेस्टइंडीज़ के कप्तान डेरेन सैमी को तीन विकेट मिले, जबकि रवि रामपॉल और देवेंद्र बिशू ने दो-दो विकेट लिए.

वेस्टइंडीज़ ने जब अपनी दूसरी पारी शुरू की, तो उनके पास 95 रनों की बढ़त थी. लेकिन भारतीय कप्तान धोनी ने पिच का मूड भाँपते हुए दोनों छोर से स्पिनरों को लगाया. प्रज्ञान ओझा और आर अश्विन ने गेंदबाज़ी का मोर्चा संभाला और भारत को इसका फ़ायदा भी मिला.

वेस्टइंडीज़ के दोनों सलामी बल्लेबाज़ ब्रैथवेट और कीरैन पॉवेल पवेलियन लौट गए हैं. ब्रैथवेट ने दो रन बनाए जबकि पॉवेल बिना खाता खोले आउट हो गए.

दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक वेस्टइंडीज़ ने अपनी दूसरी पारी में दो विकेट पर 21 रन बनाए हैं और उसकी कुल बढ़त 116 रनों की हो गई है.

तीसरे दिन का खेल काफ़ी रोमांचक होने की उम्मीद है, जहाँ बल्ले और गेंद का ज़बरदस्त मुक़ाबला देखने को मिलेगा.

संबंधित समाचार