विकेट को तरसते रहे भारतीय गेंदबाज़

एडवर्ड्स और ब्रावो इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption कर्क एडवर्ड्स और डैरेन ब्रावो ने शतकीय साझेदारी की है

वेस्टइंडीज़ के बल्लेबाज़ों के बेहतरीन प्रदर्शन ने मुंबई टेस्ट के पहले दिन भारतीय गेंदबाज़ों से काफ़ी मशक्कत करवाई.

पहले दिन का खेल समाप्त होने तक वेस्टइंडीज़ ने सिर्फ़ दो विकेट के नुक़सान पर 267 रन बना लिए हैं.

आउट होने वाले दोनों खिलाड़ियों और क्रीज़ पर मौजूद दोनों खिलाड़ियों ने भी अर्द्धशतक जड़ा.

फ़ॉर्म में चल रहे कर्क एडवर्ड्स और डैरेन ब्रावो ने तीसरे विकेट के लिए 117 रनों की साझेदारी की.

वैसे वेस्टइंडीज़ को मैच शुरू होने से पहले ही झटका लग गया था जबकि उनके प्रमुख बल्लेबाज़ शिवनारायण चंदरपॉल को पिंडली में लगी चोट की वजह से टीम से बाहर होना पड़ा.

मगर टॉस जीतने के बाद वेस्टइंडीज़ ने सधी हुई शुरुआत की. क्रेग ब्राथवेइट और एड्रियन बराठ की सलामी जोड़ी ने भारतीय टीम को विकेट के लिए काफ़ी तरसाया.

भारतीय गेंदबाज़

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption भारतीय गेंदबाज़ों को पहले दिन ज़्यादा सफलता नहीं मिली

दोनों ने शतकीय साझेदारी करते हुए 137 रन जोड़े. इसके बाद ऑफ़ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने दोनों को आउट करके भारत को उम्मीद की किरण दिखाई.

मगर उसके बाद एडवर्ड्स और ब्रावो ने उस किरण को बंद कर दिया. फिर भारत ने 85वें ओवर में नई गेंद भी ली मगर उससे भी ब्रावो और एडवर्ड्स की जोड़ी नहीं टूटी.

कोलकाता टेस्ट में 136 रन बनाने वाले ब्रावो 33 रनों के स्कोर पर बचे थे जबकि राहुल द्रविड़ ने स्लिप में उनका कैच छोड़ दिया.

इस तरह वेस्टइंडीज़ के बल्लेबाज़ों ने भारतीय क्रिकेट प्रेमियों को सचिन तेंदुलकर के 100वें शतक की संभावना से दूर रखा.

भारत ने उमेश यादव की जगह तेज़ गेंदबाज़ वरुण ऐरन को टीम में जगह दी और वरुण की गेंदों ने शुरुआत में तो वेस्टइंडीज़ के बल्लेबाज़ों को परेशान किया मगर बाद में उन्हें विकेट से ज़्यादा मदद नहीं मिली.

इसके अलावा भारत ने उम्मीद के अनुसार विराट कोहली को टीम में शामिल किया है.

भारत दिल्ली टेस्ट और कोलकाता टेस्ट जीतकर पहले ही शृंखला में 2-0 से अजेय बढ़त हासिल कर चुका है.

संबंधित समाचार