ज़हीर को पर्थ की विकेट से मदद की उम्मीद

ज़हीर ख़ान (फ़ाइल फ़ोटो) इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ों को रोकने में भारतीय गेंदबाज़ अब तक असफल रहें हैं.

भारतीय टीम के प्रमुख गेंदबाज़ ज़हीर ख़ान का मानना है कि पर्थ की तेज़ पिच पर सिरीज़ में वापसी करने के लिए टीम तैयार है.

ज़हीर ख़ान का कहना है कि पर्थ की तेज़ पिच पर भारतीय गेंदबाज़ ऑस्ट्रेलिया के लिए समस्या खड़ी कर सकते हैं और सिडनी के बाद मिले ब्रेक से टीम को फ़ायदा हुआ है.

मंगलवार को भारतीय टीम ने नेट्स पर कड़ा अभ्यास किया.

एक दिन पहले गो कार्टिंग के लिए मौज मस्ती करने गई टीम के बारे में मीडिया में आलोचना का जवाब देते हुए ज़हीर ने कहा कि लंबे दौरे पर छुट्टी लेना भी ज़रूरी है.

नेट्स के बाद संवाददाता सम्मेलन में ज़हीर ने कहा, “इस तरह के बड़े दौरे पर हमें अपना समय ठीक ढंग से इस्तेमाल करना चाहिए. तेज़ गेंदबाज़ कितना काम कर रहे हैं उस पर भी ध्यान देना चाहिए. इन सब चीज़ों को देखते हुए ये तीन दिन का ब्रेक टीम के लिए बढ़िया रहा है.”

ज़हीर का कहना था, “जो भी आलोचना और परामर्श मिलता है अगर उसका सकारात्मक इस्तेमाल किया जाए तो अच्छा रहता है. हमारा ध्यान इस बात पर है कि हम पर्थ के टेस्ट में इस मानसिकता के साथ जाएँ कि सिरीज़ 0-0 पर है. हमने कुछ कमज़ोरियों पर ध्यान दिया है और उसे सुधारा है.”

वहीं ईशांत शर्मा के अभद्र इशारे के बारे में ज़हीर ने कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. उन्होंने कहा कि वो ईशांत शर्मा के साथ गो कार्टिंग पर नहीं गए थे और इस पर कोई बयान नहीं देंगे.

'पिच से मदद'

ज़हीर ख़ान ने मेलबर्न और सिडनी में बढ़िया गेंदबाज़ी की थी. भारतीय टीम के सबसे अनुभवी गेंदबाज़ पहली बार पर्थ की तेज़ पिच पर मैच खेलेंगे और इसके लिए उन्होंने खुशी जताई.

ज़हीर ने कहा, “मैं खुश हूँ कि पर्थ में खेलने का मौक़ा मिल रहा है. इस विकेट की बहुत चर्चा हो रही है, इसे दुनिया का सबसे तेज़ विकेट माना जाता है और हम उनके लिए समस्या खड़ी कर सकते हैं. हम उन पर दबाव बना रहे हैं लेकिन फिर उसे खो भी दे रहे हैं. हमें इस पर ध्यान देना होगा.”

ज़हीर का कहना था, “हमें भरोसा है कि हम वापसी करेंगे. पहले भी हम ख़राब हालात से बाहर निकले हैं. टीम का आत्मविश्वास हमारी नेट प्रैक्टिस में भी झलक रहा है.”

उधर ऑस्ट्रेलियाई विकेट कीपर ब्रैड हैडिन ने एक घरेलू मीडिया को बयान दिया है कि वो भारतीय टीम को मानसिक रूप से कमज़ोर मानते हैं. इस पर सवाल पूछे जाने पर ज़हीर ने हैडिन को अपनी कीपिंग पर ध्यान देने का परामर्श दिया.

ज़हीर ने कहा, “हैडिन को अपनी विकेट कीपिंग पर ध्यान देना चाहिए, वो सबसे ज़्यादा कमज़ोर कड़ी नज़र आ रहे हैं. ऐसा लगता है कि ऑस्ट्रेलिया ने उन्हें इस तरह की बात करने के लिए ही नियुक्त किया है.”

ज़हीर ने भारतीय तेज़ गेंदबाज़ों की तारीफ़ करते हुए कहा, “ईशांत शर्मा ने इस मैदान पर ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में हलचल पैदा की थी. वो अच्छी गेंदबाज़ी कर रहे हैं और उन्हें विकेट भी मिलने लगेंगे. वहीं उमेश यादव टीम में विकेट लेने की भूमिका में हैं और वो ऐसा कर पा रहे हैं.”

सचिन तेंदुलकर के सौवें शतक के बारे में ज़हीर ने उम्मीद जताई कि वो दूर नहीं है.

संबंधित समाचार