वनडे या टेस्ट से रिटायर हो सकते हैं धोनी

धोनी (फ़ाइल चित्र)
Image caption धोनी अब तक 66 टेस्ट मैच खेल चुके हैं.

भारतीय क्रिकेट कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा है कि अगर वो 2015 विश्व कप तक खेलते हैं तो उन्हें टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेना पड़ सकता है.

पर्थ में गुरुवार को एक संवाददाता सम्मेलन में धोनी ने कहा कि लंबे समय तक क्रिकेट खेलने के लिए उन्हें टेस्ट और वनडे में से किसी एक से संन्यास लेना पड़ेगा.

धोनी ने कुछ दिनों पहले कहा था कि वो 2013 के अंत में फ़ैसला लेंगे कि वो 2015 के विश्व कप में खेलना चाहेंगे या नहीं.

कप्तानी के अलावा धोनी पर विकेटकीपिंग का भी भार रहता है और वो पहले ही यह कह चुके हैं कि वो यह सुनिश्चित करेंगे कि 2013 से पहले टीम के पास उनका एक विकल्प तैयार हो.

'अभी वक्त है'

धोनी ने कहा, ''मेरा मानना है कि अगर मैं 2015 विश्व कप में खेलना चाहूंगा तो मुझे इसका फैसला 2013 के अंत तक ले लेना होगा, क्योंकि अगर मैं नहीं खेलता हूं तो आने वाले विकेटकीपर को कम से कम 2 साल का समय मिलेगा विश्व कप से पहले तैयारी के लिए. साथ ही मुझे अपनी फ़िटनेस को भी देखना है कि मैं कितना भार ले सकता हूं.''

धोनी ने कहा कि वो अभी 30 साल के हैं और रिटायरमेंट के लिए सोचने का वक्त अभी उनके पास है लेकिन 2013 तक वो टेस्ट और वनडे में से एक को चुन लेंगे.

धोनी ने अब तक 66 टेस्ट मैच खेले हैं, 36 में कप्तानी की है जिनमें से 17 में उन्हें जीत मिली है. उनकी कप्तानी में भारत ने 2007 में हुआ 20-20 और 2011 में हुआ विश्व कप भी जीता है.

संबंधित समाचार