लक्ष्मण के बचाव में आए गंभीर

गौतम गंभीर और वीवीएस लक्ष्मण इमेज कॉपीरइट AFP Getty
Image caption गंभीर ने कहा कि जब सभी बल्लेबाज़ नाकाम रहे हों तो अकेले लक्ष्मण को दोष देना ठीक नहीं.

साधारण फ़ॉर्म में चल रहे वीवीएस लक्ष्मण के बचाव में सलामी बल्लेबाज़ी गौतम गंभीर आगे आए हैं.

गंभीर ने सवाल उठाया है कि जब पूरी बल्लेबाज़ी नाकामयाब रही है तो किसी एक बल्लेबाज़ को ही निशाना क्यों बनाया जा रहा है.

साथ ही गंभीर ने कहा है कि सीनियर खिलाड़ी कब रिटायर करेंगें ये फ़ैसला उनपर ही छोड़ना चाहिए और इसपर अटकलें बंद होनी चाहिए.

मंगलवार को भारतीय टीम पर्थ टेस्ट का आखिरी दिन खेल रही होती, लेकिन तीन दिन में ही हारने के बाद टीम को नेट्स पर एक बार फिर अभ्यास करने का मौका मिला.

कोच डंकन फ्लेचर की देखरेख में भारतीय टीम ने लगभग तीन घंटे तक अभ्यास किया.

नेट्स के बाद संवाददाता सम्मेलन में गौतम गंभीर ने कहा कि सिर्फ़ लक्ष्मण के फ़ॉर्म को लेकर इतना हल्ला क्यों मच रहा है जब सभी बल्लेबाज़ बराबर रूप से फ्लॉप रहे हैं.

'उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे'

उन्होंने कहा, “किसी एक बल्लेबाज़ की ही आलोचना क्यों हो रही है. हम सब एक बैटिंग युनिट के तौर पर असफ़ल रहे हैं. एक से सात नंबर तक सभी बल्लेबाज़ों की आलोचना होनी चाहिए. लक्ष्मण महान खिलाड़ी है, उन्होंने भारत के लिए लंबे समय तक खे्ला है और मैच जिताए हैं. किस खिलाड़ी को कब रिटायर होना है ये उसपर छोड़ना चाहिए.”

गंभीर ने कहा कि टॉप ऑर्डर के सभी बल्लेबाज़ों ने अर्धशतक बनाया है लेकिन कोई भी शतक नहीं बना सका है जो टीम की कमज़ोरी साबित हुई है.

गंभीर ने कहा, “हमने अच्छा नहीं खेला है. भारत में हमसे बहुत उम्मीदें थी जिसपर हम अभी तक खरा नहीं उतर पाए हैं. नंबर वन टीम बनने के लिए हमें देश के बाहर भी जीतना शुरु करना होगा.”

लेकिन गंभीर को उम्मीद हे कि एडिलेड में पासा पलट जाएगा.

गौतम गंभीर ने कहा, “हम नेट्स पर कड़ी मेहनत कर रहे हैं. अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में किस्मत बदलते वक्त नहीं लगता. अभी भी काफ़ी सिरीज़ बाकी है. हम एडिलेड में अच्छा खेलना चाहते हैं और उसके बाद वनडे सिरीज़ में जीतना चाहते हैं.”

संबंधित समाचार