अजमल की 'गेंदबाज़ी' पर विवाद

पाकिस्तानी स्पिनर सईद अजमल इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption पाकिस्तानी स्पिनर सईद अजमल ने इंग्लैंड के ख़िलाफ़ पहले टेस्ट की पहली पारी में सात विकेट झटके.

इंग्लैंड के ख़िलाफ़ पहले क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन के हीरो पाकिस्तानी गेंदबाज़ सईद अजमल ने अपनी गेंदबाज़ी के बारे में उठ रहे सवालों को ख़ारिज कर दिया है.

दुबई में खेले जा रहे मैच में अजमल की शानदार गेंदबाज़ी की बदौलत पाकिस्तानी गेंदबाज़ों ने इंग्लैंड को पहली पारी में 192 रन पर समेट दिया. अजमल ने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 55 रन देकर सात विकेट झटके.

लेकिन अजमल को बेहतरीन गेंदबाज़ी के लिए तारीफ़ मिलने की जगह मीडिया में ऐसी बातें उठने लगीं कि उनका 'बॉलिंग ऐक्शन' अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के नियमों के मुताबिक़ नहीं है.

विवाद

सारा विवाद इंग्लैंड के पूर्व कप्तान बॉब विलिस के उस वक्तव्य से शुरु हुआ जिसमें उन्होंने अजमल के गेंदबाज़ी के तरीके की आलोचना करते हुए कहा था, "मुझे 'दूसरा' गेंद से समस्या है. आईसीसी ने इस तरह की गेंद को मान्यता दे दी है, उसने नियमों में बदलाव कर इन गेंदबाज़ों को अपनी कोहनी 15 डिग्री मोड़ने की अनुमति दे दी है जिससे बल्लेबाज़ों के लिए मुश्किल हो जाती है."

लेकिन खेल के बाद प्रेस कॉन्फ़्रेंस में इस बारे में सवाल पूछे जाने पर सईद अजमल ने इस आरोप को नकारते हुए कहा, "मैं तो अपनी गेंदबाज़ी पर ध्यान दे रहा हूं. मुझे इस बारे में कुछ नहीं पता, इस बारे में अंपायरों और मैच रेफ़री को पता होगा और आज मैंने अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ बॉलिंग की है. मैं ख़ुश हूं."

अजमल ने आगे कहा, "इस तरह के सवाल सक़लेन मुश्ताक़ के बारे में भी उठे थे और अब मेरे साथ हो रहा है. मेरे (ऐक्शन पर) पहली बार (2009 में) ऑस्ट्रेलिया में सवाल उठाए गए थे लेकिन मुझे 'क्लियर' कर दिया गया था. मैंने काउंटी क्रिकेट भी खेला है, वहां कोई दिक्कत नहीं हुई. मैंने सिर्फ़ विकेट-टू-विकेट बॉलिंग करने की कोशिश की है जिसका मुझे फ़ायदा मिला है. हालांकि विकेट टर्न नहीं कर रहा था लेकिन ख़राब बल्लेबाज़ी का मुझे फ़ायदा हुआ."

इंग्लैंड की प्रतिक्रिया

मीडिया को भले ही अजमल की गेंदबाज़ी पर संदेह हो लेकिन इंग्लैंड के विकेटकीपर मैट प्रायर ने भी उनको ये कहते हुए क्लीन चिट दे दी कि इंग्लैंड की टीम को अजमल की गेंदबाज़ी से कोई समस्या नहीं है और अजमल ने उनकी उम्मीद के विपरीत कुछ भी नहीं किया.

मीडिया द्वारा ये पूछे जाने पर कि क्या इंग्लैंड को अजमल की गेंदबाज़ी की वैधता के बारे में कोई संदेह है, अपनी टीम के लिए सबसे ज़्यादा नाबाद 70 रन बनाने वाले प्रायर का कहना था, "हम अजमल की गेंदबाज़ी के बारे में चिंतिंत नहीं है, हम इस बारे में ड्रेसिंग रूम में बात नहीं करते, इसका हमसे कोई लेना-देना नहीं है. अगर दूसरे लोग इस बारे में बात करना चाहते हैं तो ये उनका नज़रिया है."

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन का मानना है कि अगर इंग्लैंड सईद अजमल की स्पिन बॉलिंग को खेलना जल्द-से-जल्द नहीं सीखेगा, तो वो श्रृंखला हार जाएगा.

इंग्लैंड ने 2011 में भारत के ख़िलाफ़ 4-0 से टेस्ट श्रृंखला जीतकर टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर कब्ज़ा किया था और उसके बाद अब वो पाकिस्तान के साथ मौजूदा टेस्ट श्रृंखला खेल रहा है.

फ़िलहाल दुबई में खेल के दूसरे दिन का खेल ख़त्म होने तक पाकिस्तान ने अपनी दूसरी पारी में सात विकेट के नुकसान पर 288 रन बना लिए थे. पहली पारी के आधार पर उसके पास 96 रनों की बढ़त है.

संबंधित समाचार