कोहली का शतक भी न बचा पाया

विराट कोहली इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption विराट कोहली ने अपना पहला टेस्ट शतक लगाया

लगातार मिल रही हार के बाद टीम इंडिया के लिए आख़िर एक ख़ुशी का क्षण आया जब विराट कोहली ने अपना शतक पूरा किया.

ऑस्ट्रेलिया के एडिलेड मैदान पर कोहली के ये शतक भी भारत की दुर्गति को नहीं रोक सका और पूरी टीम 272 रनों पर सिमट गई.

इस तरह पहली पारी में ऑस्ट्रेलियाई टीम के 604 रनों के जवाब में 272 रन बनाकर भारतीय टीम 332 रनों से पिछड़ गई.

तीसरे दिन ही ऑस्ट्रेलिया ने भारत को फ़ॉलोआन न खिलाकर ख़ुद खेलना शुरु किया और दिन का खेल ख़त्म होने तक 50 रनों के स्कोर पर तीन विकेट गँवा दिए थे.

कप्तान माइकल क्लार्क नौ और पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग एक रन बनाकर नाबाद हैं.

दूसरी पारी में भारत को रविचंद्रन अश्विन ने शुरुआती दो विकेट लिए जबकि एक विकेट ज़हीर ख़ान के खाते में गया.

दुर्गति

फॉलोऑन बचाने में विफल रही भारतीय बल्लेबाज़ मेज़बान गेंदबाज पीटर सिडेल और बेन हिल्फ़ेनहास की घातक गेंदबाजी के सामने घुटने टेकते नज़र आए और आख़िरकार फ़ॉलोआन भी न बचा सके.

सिडेल ने पांच और हिल्फ़ेनहास ने तीन विकेट लिए.

भारत की ओर से विराट कोहली को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज़ टिक नहीं सका.

कोहली ने सर्वाधिक 116 रन बनाए.

उन्होंने 213 गेंदों में 11 चौके और एक छक्का लगाया. हिल्फ़ेनहास की गेंद पर वह पगबाधा आउट हुए.

विकेटकीपर बल्लेबाज वृद्धिमान साहा ने हालांकि कुछ देर तक कोहली का साथ दिया और 35 रन बनाए. दोनों के बीच छठे विकेट के लिए 114 रनों की साझेदारी हुई.

सौंवे शतक का इंतजार कर रहे सचिन तेंदुलकर गुरुवार को कुछ खास नहीं कर सके और 25 रन बनाकर पैवेलियन लौट गए.

वीवीएस लक्ष्मण ने 18 रन बनाए. राहुल द्रविड़ एक रन बनाकर पहले ही बोल्ड हो गए थे.

बुधवार को भारत की ओर से पारी की शुरुआत कप्तान वीरेंद्र सहवाग और गम्भीर ने की थी.

सहवाग को पीटर सिडल ने 18 रन के स्कोर पर अपनी ही गेंद पर कैच आउट किया था. दूसरा विकेट राहुल द्रविड़ के रूप में गिरा था.

संबंधित समाचार