द्रविड़ पर चुटकुला, साहा का उत्साह

राहुल द्रविड़ इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption द्रविड़ सारी श्रृंखला में ख़राब फ़ॉर्म में रहे.

ऑस्ट्रेलिया में क्रिकेट को टीवी पर देखने के अलावा रेडियो पर भी खूब सुना जाता है. लाइव कमेंट्री एबीसी रेडियो पर आ रहा है जिसके लिए ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर केरी ओ कीफ़ भी कमेंट्री कर रहे हैं.

कीफ़ को ऑस्ट्रेलिया का सबसे मज़ाकिया कमेंटेटर माना जाता है और वो कमेंट्री के दौरान चुटकुले सुनाते रहते हैं और अपने ही लतीफ़े पर खूब हंसते भी है.

शुक्रवार को जब राहुल द्रविड़ बैटिंग करने आए तो कीफ़ ने कहा, राहुल बैटिंग करने आ रहे हैं और स्टंप भी पैड मांगने लगे हैं.

कीफ़ का इशारा था कि जिस तरह राहुल द्रविड़ बोल्ड आउट हो रहे हैं, स्टंप भी घबरा गए हैं और अपनी सुरक्षा के लिए पैड मांग रहे हैं जैसा बल्लेबाज़ पहनते हैं.

हालांकि इसके तुरंत बाद कीफ़ ने कहा कि वो मज़ाक कर रहे हैं और द्रविड़ महान बल्लेबाज़ हैं.

वनडे की युवा टीम ने नेट्स संभाला

Image caption एक दिवसीय श्रृंखला के लिए चुनी गई टीम ने अभ्यास शुरू कर दिया है

टेस्ट मैच के बाद एकदिवसीय सिरीज़ के लिए टीम के युवा खिलाड़ी एडिलेड में टीम से जुड़ गए हैं.

शुक्रवार को पार्थिव पटेल, मनोज तिवारी, सुरेश रैना, प्रवीण कुमार, राहुल शर्मा और इरफ़ान पठान ने नेट्स पर अभ्यास किया.

टेस्ट के बाद लक्ष्मण, साहा, द्रविड़, रहाणे, इशांत शर्मा, मिथुन औऱ प्रज्ञान ओझा वापस लौट जाएंगे.

नए आने वाले खिलाड़ियों के साथ भारतीय टीम कम से कम वनडे में बढ़िया प्रदर्शन करना चाहेगी.

ये सभी खिलाड़ी बेहतरीन फील्डर हैं और कम से कम फील्डिंग में सुधार ज़रूर देखने को मिलेगा.

सीनियर खिलाड़ियों ने साहा का उत्साह बढ़ाया

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption साहा कैच छोड़ने के बाद निराश थे लेकिन साथी खिलाड़ियों ने उनका उत्साह बढ़ाया.

रिद्धीमान साहा ने लंच के बाद ईशांत शर्मा की गेंद पर पोंटिंग के बल्ले का किनारा लगा. गेंद पहली स्लिप की दिशा में जा रही थी, लेकिन लक्ष्मण लगभग दूसरे स्लिप पर खड़े थे और कैच लेने के लिए कीपर साहा अपनी दांई ओर हवा में उछले, गेंद उनके हाथ में भी आई लेकिन उस मुश्किल कैच को वो लपक नहीं सके.

साहा इसके बाद खुद से नाराज़ दिखे और लंबी देर तक सर हिलाते रहे. लेकिन जल्दी ही ऑस्ट्रेलिया ने पारी घोषित कर दिया और भारत को बड़ा नुकसान नहीं हुआ.

पारी के बाद ड्रेसिंग रूम जाते हुए सचिन तेंदुलकर दौड़कर साहा के पास आए औऱ उनकी पीठ थपथपाई. सचिन साहा से कुछ देर बात करते रहे. लक्ष्मण भी वहां आ गए और उन्होंने भी साहा का आत्मविश्वास बढ़ाया.

साहा ने वौ कैच ज़रूर छोड़ा पर मैच में उनकी कीपिंग की तारीफ़ भी हो रही है.

संबंधित समाचार