'क्रिकेट में एक ही राहुल द्रविड़ हो सकता है....'

 शुक्रवार, 9 मार्च, 2012 को 17:30 IST तक के समाचार
राहुल द्रविड़ और सचिन

सचिन ने कहा है कि वे राहुल द्रविड़ की कमी महसूस करेंगे

भारतीय क्रिकेट टीम की 'दीवार' के रूप में चर्चित क्रिकेटर राहुल द्रविड़ के संन्यास की घोषणा के बाद कई क्रिकेटरों ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उनके योगदान की सराहना की है.

उनके साथी खिलाड़ी मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सिर्फ़ एक ही राहुल द्रविड़ हो सकता है.

सचिन ने कहा, "राहुल द्रविड़ जैसा दूसरा कोई नहीं हो सकता. मैं ड्रेसिंग रूम और मैदान में राहुल द्रविड़ की कमी महसूस करूँगा."

वर्ष 2000 से 2005 तक भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रहे जॉन राइट ने कहा है कि राहुल द्रविड़ उन सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक हैं, जिनके साथ उन्होंने काम किया है.

उन्होंने कहा, "द्रविड़ भारत के महान बल्लेबाज़ों में से एक हैं. हर माहौल में वे बेहतरीन थे, जिन्होंने हर जगह रन बनाए. वे न सिर्फ़ महान क्रिकेटर हैं, बल्कि अच्छे इंसान भी हैं."

राजदूत

"राहुल द्रविड़ जैसा दूसरा कोई नहीं हो सकता. मैं ड्रेसिंग रूम और मैदान में राहुल द्रविड़ की कमी महसूस करूँगा"

सचिन तेंदुलकर

भारत के पूर्व कप्तान और कर्नाटक के उनके साथी खिलाड़ी अनिल कुंबले ने भी द्रविड़ को क्रिकेट का राजदूत बताया है. द्रविड़ के संन्यास के समय वे राहुल द्रविड़ के साथ बैठे थे.

कुंबले ने कहा, "मेरा सौभाग्य है कि मैं द्रविड़ के साथ खेल चुका हूँ. मैंने द्रविड़ के साथ मैदान पर बिताए हर क्षण का मजा लिया है. उनके साथ खेलना एक सम्मान है."

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन और मौजूदा खिलाड़ी केविन पीटरसन ने भी राहुल द्रविड़ की सराहना की है.

माइकल वॉन ने ट्विटर पर लिखा है- राहुल द्रविड़ ने संन्यास लिया, पिछले 20 वर्षों का सबसे सम्मानित क्रिकेटर.

पीटरसन ने ट्विटर पर लिखा- राहुल द्रविड़ लीजेंड. सादा और साधारण. एक बेहतरीन करियर के लिए बधाई. भारत द वॉल को मिस करेगा.

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के प्रमुख एन श्रीनिवासन ने राहुल द्रविड़ को बेहतरीन खिलाड़ियों में गिना. उन्होंने द्रविड़ को महान रोल मॉडल कहा.

"मेरा सौभाग्य है कि मैं द्रविड़ के साथ खेल चुका हूँ. मैंने द्रविड़ के साथ मैदान पर बिताए हर क्षण का मजा लिया है. उनके साथ खेलना एक सम्मान है"

अनिल कुंबले

आईपीएल में राजस्थान रॉयल की ओर से राहुल द्रविड़ के साथ खेल चुके ऑस्ट्रेलियन ऑल राउंडर शेन वॉटसन ने उन्हें विश्व क्रिकेट का सबसे बेहतरीन खिलाड़ी बताया है.

भारत के महानतम खिलाड़ियों में से एक सुनील गावसकर ने भी द्रविड़ के योगदान को याद किया. बीबीसी रेडियो फाइव लाइव के साथ बातचीत में मैदान के अंदर और मैदान के बाहर उनके व्यवहार की सराहना की.

शून्य

"मैदान के बाहर और अंदर अपने काम की गंभीरता के कारण वे युवा खिलाड़ियों के लिए आदर्श थे. उन्होंने जिस तरह अपने आप को बनाए रखा और क्रिकेट में लगाए रखा, वो बेहतरीन था. राहुल द्रविड़ ऐसे खिलाड़ी थे, ड्रेसिंग रूम में जिनकी तरफ युवा खिलाड़ी देखता था. सचिन तेंदुलकर ने युवा खिलाड़ियों को प्रेरित किया, लेकिन ये खिलाड़ी जानते थे कि सचिन कुछ खास हैं, लेकिन वे राहुल द्रविड़ की ओर ऐसे देखते थे जैसे वे सभी द्रविड़ बन सकते हैं. राहुल हमेशा मेहनत करने वाले खिलाड़ी थे. उनके संन्यास से बड़ा शून्य पैदा हो गया है"

सुनील गावसकर

गावसकर ने कहा, "मैदान के बाहर और अंदर अपने काम की गंभीरता के कारण वे युवा खिलाड़ियों के लिए आदर्श थे. उन्होंने जिस तरह अपने आप को बनाए रखा और क्रिकेट में लगाए रखा, वो बेहतरीन था. राहुल द्रविड़ ऐसे खिलाड़ी थे, ड्रेसिंग रूम में जिनकी तरफ युवा खिलाड़ी देखता था. सचिन तेंदुलकर ने युवा खिलाड़ियों को प्रेरित किया, लेकिन ये खिलाड़ी जानते थे कि सचिन कुछ खास हैं, लेकिन वे राहुल द्रविड़ की ओर ऐसे देखते थे जैसे वे सभी द्रविड़ बन सकते हैं. राहुल हमेशा मेहनत करने वाले खिलाड़ी थे. उनके संन्यास से बड़ा शून्य पैदा हो गया है."

ट्विटर पर अमिताभ बच्चन ने भी राहुल के संन्यास लेने पर उनकी भूमिका की सराहना की है. अमिताभ बच्चन ने लिखा है- सबसे ज्यादा भरोसेमंद, जेंटिलमैन, निस्वार्थ भाव से खेलने वाले क्रिकेटर ने संन्यास ले लिया है.

दक्षिण अफ़्रीका के पूर्व कप्तान शॉन पोलक ने भी द्रविड़ को शानदार क्रिकेट करियर के लिए बधाई दी है.

पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने कहा है कि बार-बार ऐसा खिलाड़ी नहीं मिलता.

शाहरुख खान ने कहा है कि राहुल द्रविड़ मेरे लिए सबसे जीवंत और भरोसेमंद क्रिकेटर हैं. टेनिस खिलाड़ी महेश भूपति ने ट्विटर पर लिखा है कि मैदान के अंदर और बाहर के चैम्पियन खिलाड़ी हैं राहुल द्रविड़.

दादा ने किया सैल्यूट

"राहुल द्रविड़ पर कोई दबाव बना सके, ऐसा हो ही नहीं सकता. ये उनका खुद का निर्णय है जिसका हम सभी स्वागत करते हैं. गांगुली के अनुसार द्रविड़ की उपलब्धियां इतनी ज्यादा है कि कि किसी भी नए खिलाड़ी को उन जैसा बनने में 15 साल लग जाएंगे"

सौरभ गांगुली

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने राहुल द्रविड़ के संन्यास लेने के फैसले को सही ठहराया है.

दिल्ली में सौरव गांगुली ने कहा कि राहुल द्रविड़ एक बेहतरीन बल्लेबाज ही नहीं, अच्छे विकेट कीपर और कप्तान भी थे. उनके संन्यास से खाली हुई जगह को भरना आसान नहीं होगा. गांगुली के मुताबिक द्रविड़ तीसरे नंबर पर खेलने वाले दुनिया के सबसे भरोसेमंद बल्लेबाज थे.

गांगुली का कहना है कि राहुल द्रविड़ ने वीवीएस लक्ष्मण की मदद से भारतीय टीम को न सिर्फ कई अहम जीत दिलाई है बल्कि भारत में क्रिकेट की दशा और दिशा को भी बदला है.

द्रविड़ पर संन्यास लेने के लिए दबाव बनाए जाने की अटकलों को दरकिनार करते हुए गांगुली ने कहा, "राहुल द्रविड़ पर कोई दबाव बना सके, ऐसा हो ही नहीं सकता. ये उनका खुद का निर्णय है जिसका हम सभी स्वागत करते हैं. गांगुली के अनुसार द्रविड़ की उपलब्धियां इतनी ज्यादा है कि कि किसी भी नए खिलाड़ी को उन जैसा बनने में 15 साल लग जाएंगे."

ये पूछने पर कि मैदान पर राहुल का व्यक्तिव जितना धीर-गंभीर और सादा दिखता है क्या ड्रेसिंग रूम में भी वे वैसे ही हैं?

इसके जवाब में गांगुली ने पहले तो मजाकिया लहज़े में कहा कि हां वो काफी खिझाते थे लेकिन फिर कहा कि राहुल के साथ बिताया हर लम्हा काफी अच्छा और सुखद रहा है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.