केयर्न्स ने मोदी के विरुद्ध मानहानि का मुकदमा जीता

ललित मोदी
Image caption लंदन हाईकोर्ट का कहना है कि क्रिस के खिलाफ ललित मोदी सबूत नहीं दे पाए

न्यूजीलैंड के पूर्व क्रिकेट कप्तान क्रिस केयर्न्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पूर्व अध्यक्ष ललित मोदी के खिलाफ मानहानि का मुकदमा जीत लिया है.

लंदन हाईकोर्ट के जस्टिस डेविड बीन ने कहा कि ललित मोदी इस बात का कोई भरोसेमंद सबूत नहीं दे पाए कि क्रिस केयर्न्स मैच-फिक्सिंग या स्पॉट फिक्सिंग में शामिल थे.

क्रिस की मानहानि के लिए ललित मोदी को 1.42 लाख डॉलर का भुगतान करना होगा.

ललित मोदी ने जनवरी 2010 में क्रिस पर ट्विटर के जरिए आरोप लगाया था कि वे मैच-फिक्सिंग या स्पॉट फिक्सिंग में शामिल थे.

गंभीर आरोप

जस्टिस बीन ने कहा, ''ये स्वाभाविक है कि किसी पेशेवर क्रिकेट खिलाड़ी पर मैच-फिक्सिंग का आरोप उसके सारे योगदान, प्रतिष्ठा को नष्ट कर देता है. ''

उन्होंने कहा, ''ये आरोप आतंकवाद या यौन अपराध में शामिल होने जितना गंभीर तो नहीं है, लेकिन किसी पेशेवर खिलाड़ी के खिलाफ इससे ज्यादा गंभीर आरोप नहीं लगाया जा सकता.''

इससे पहले ललित मोदी ने कहा था कि क्रिस को आगामी आईपीएल के लिए खिलाड़ियों की नीलामी सूची से हटा दिया गया है क्योंकि वे मैच-फिक्सिंग में शामिल थे.

क्रिस ने ललित मोदी के आरोप को गलत बताते हुए जनवरी 2010 में लंदन हाईकोर्ट में गुहार लगाई थी.

क्रिस आईपीएल की टीम चंडीगढ़ लॉयन्स के कप्तान थे लेकिन अक्तूबर 2008 में उनका अनुबंध खत्म कर दिया गया था.

इसकी आधिकारिक वजह ये बताई गई थी कि क्रिस ने अपने घुटने की चोट के बारे में नहीं बताकर अनुबंध की शर्तों का उल्लंघन किया.

न्यूजीलैंड के हरफनमौला क्रिकेट खिलाड़ी 41 वर्षीय क्रिस केयर्न्स ने 62 टेस्ट मैचों में 3000 रन बनाए हैं और 200 विकेट लिए हैं.

संबंधित समाचार