युवराज नया चैंपियन बनेगा: पिता को उम्मीद

युवराज सिंह इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption युवराज सिंह लंदन से इलाज करवाकर सोमवार को भी भारत लौटे हैं

अमरीका में कैंसर का इलाज करवाकर स्वदेश लौटे क्रिकेटर युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह को उम्मीद है कि युवराज अपनी दूसरी पारी में एक नए चैंपियन के तौर पर उभरेंगे.

बीबीसी से खास बात करते हुए योगराज सिंह ने कहा, “युवराज सिंह अब एक नए चैंपियन के तौर पर भारत में आए हैं. भगवान ने एक नए युवराज को भेजा है. युवराज दोबारा खेलेगा और ऐसा खेलेगा कि जैसा किसी ने नहीं खेला हो.”

योगराज सिंह ने ये भी कहा कि युवराज पर वापसी का कोई दबाव नहीं होना चाहिए और वापसी के लिए उन्हें थोड़ा वक्त चाहिए.

योगराज सिंह कहते हैं,“मैं जनता से गुजारिश करता हूं कि वो युवराज सिंह पर वापसी का दबाव ना बनाएं और उन्हें वापसी के लिए वक्त दें.”

योगराज सिंह ने इस मौके पर भगवान और भारत की जनता का आभार जताया.

योगराज सिंह ने कहा, “युवराज देश का बेटा है, देश की जनता ने बहुत दुआएं की हैं. मैं देश की जनता का बहुत शुक्रगुज़ार हूं. मैं भगवान से प्रार्थना करता हूं कि वो अपना आशीर्वाद युवराज को दें. मुझे इस बात का भी गर्व है कि मुझे इतना बहादुर बेटा मिला है.”

योगराज सिंह के अनुसार युवराज में जूझने की गज़ब ताकत है जिसकी वजह से वो कैंसर से लड़ पाए.

योगराज सिंह कहते हैं, “जब इस तरह की बीमारी आती हैं तो बडे़-बडे़ इंसान डोल जाते हैं, सहम जाते हैं. लेकिन युवराज ने बड़ी हिम्मत से इस बीमारी का सामना किया है.”

ट्विटर और युवराज

अमरीका में इलाज के दौरान भी युवराज ने ट्विटर पर अपनी हालत के बारे में लोगों को जानकारी दी.

वो चाहे डॉक्टर की राय हो या फिर अपने दिल का हाल- युवराज ने ट्विटर के माध्यम से अपने प्रशंसकों को हमेशा अपने करीब रखा.

उन्होंने अपनी कई तस्वीरें भी सार्वजनिक की, इनमें से एक में कीमोथेरेपी के दौरान वे गंजे नज़र आए.

अमरीका में उनसे मिलने अनिल कुंबले पहुँचे, तो लंदन में सचिन ने उन्हें गले लगाकर शुभकामनाएँ दीं.

Image caption युवराज अपनी बीमारी के दौरान भी अपने प्रशंसकों से जुड़े रहे

जब पिछले दिनों विश्व कप जीतने का एक साल पूरा हुआ, तो युवराज ने ट्विटर पर अपना वीडियो संदेश दिया, जिसे मीडिया में खूब अहमियत मिली.

पिछले साल के विश्व कप के मैन ऑफ़ टूर्नामेंट रहे युवराज सिंह को देश-विदेश से शुभकामनाएँ मिली.

मशहूर साइक्लिस्ट लांस आर्मस्ट्रांग ने समय-समय पर युवराज का हौसला बढ़ाया. आर्मस्ट्रांग खुद कैंसर से पीड़ित रहे हैं और उन्होंने कैंसर से जंग जीती है.

अमरीका में डॉक्टरों के मुताबिक युवराज को 'मीडियास्टिनल सेमिनोमा' नाम के दुर्लभ किस्म का कैंसर है. उन्होंने स्पष्ट किया है कि ये फेफड़े का कैंसर नहीं है.

डॉक्टरों को उम्मीद है कि मई से वे क्रिकेट खेल पाएँगे. युवराज सिंह ने अभी तक 274 एक दिवसीय मैच खेले हैं और 8051 रन बनाए हैं.

संबंधित समाचार