ओलंपिक में मुक्के बरसाएंगे सात हिंदुस्तानी

शिव थापा इमेज कॉपीरइट IABA
Image caption शिव थापा ने फाइनल में सीरिया के बॉक्सर को हराया.

कज़ाखस्तान के अस्ताना में भारतीय मुक्केबाज़ों शिव थापा और सुमित सांगवान ने एशियन ओलंपिक क्वालिफाइंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीत लिया है. इस तरह से अब सात भारतीय बॉक्सर इस वर्ष लंदन में होने वाले ओलंपिक खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे.

फ़ाइनल मुकाबले में शिव थापा ने 56 किलोग्राम वर्ग में सीरिया के बॉक्सर वेस्साम सलमाना को 18-11 से हराया.

उधर 19 वर्षीय सुमित सांगवान ने 81 किलोग्राम वर्ग में ताजिकीस्तान के बॉक्सर कुरबानोव को 14 -2 से हराया.

इससे पहले बुधवार को शिव थापा ने सेमी-फ़ाइनल में जीत हासिल कर लंदन ओलंपिक खेलों के लिए क्वालिफ़ाई कर लिया था.

18 वर्षीय थापा ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने वाले सबसे युवा भारतीय मुक्केबाज़ हैं.

शिव थापा और सुमित सांगवान के अलावा 49 किलोग्राम वर्ग में देवेंद्रों सिंह, 60 किलोग्राम में जय भगवान, 64 किलोग्राम में मनोज कुमार और 69 किलोग्राम वर्ग में विकास कृष्ण ने भी इस वर्ष लंदन में होने वाले ओलंपिक खेलों के लिए क्वालिफाई कर लिया है.

बीजिंग ओलंपिक खेलों के कांस्य पदक विजेता विजेंदर सिंह भी लंदन खेलों में भाग लेंगे.

मुक्कों की बौछार

सीरिया के बॉक्सर वेस्साम सलमाना के विरुद्ध 56 किलोग्राम वर्ग के फ़ाइनल शिव थापा ने पहले राउंड पांच के मुकाबले चार अंकों से जीत हासिल की.

लेकिन दूसरे राउंड में थापा ने स्थिति को सुधारा और ये राउंड पांच के मुकाबले तीन अंकों से जीत लिया.

फिर तीसरे राउंड थापा अपनी लय में आ गए थे. 27 साल के अनुभवी सीरियाई बॉक्सर वेस्साम सलमाना पर थापा ने मुक्कों की झड़ी लगा दी. इस राउंड में थापा को आठ अंक मिले और उनके विरोधी को मात्र चार.

सुमित सांगवान ने पहला राउंड दो-एक से जीता लेकिन दूसरे राउंड में कुर्बानोव और सांगवान पांच-पांच की बराबरी पर छूटे. तीसरे और निर्णायल राउंड में सांगवान से ताबड़तोड़ हमले किए और सात अंक अर्जित कर लिए.

उनका विरोधी केवल तीन ही अंक ले पाया.

संबंधित समाचार