आईपीएल: पंजाब और चेन्नई की टीमों की जीत

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption चेन्नई के रवींद्र जडेजा जीत का जश्न मनाते हुए लौटे.

गुरूवार को हुए आईपीएल-5 मुकाबलों में जहाँ चेन्नई सुपरकिंग्स ने एक रोमांचक जीत हासिल की वहीँ पंजाब किंग्स इलेवेन ने इस साल अपनी जीत का खाता भी खोला.

चेन्नई में हुआ पहला मुकाबला घरेलू टीम और रॉयल चैलेंजेर्स बंगलौर के बीच में हुआ.

बंगलौर की टीम ने मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए 205 रनों का विशालकाय स्कोर खड़ा कर दिया जिससे पार पाना बहुत मुश्किल लग रह था.

इस बड़े स्कोर में प्रमुख योगदान रहा क्रिस गेल और विराट कोहली के आतिशी अर्ध शतकों का.

दोनों ने 109 रनों की ताबड़तोड़ साझेदारी निभाते हुए अपनी टीम का स्कोर आठ विकेट के नुकसान पर 205 रनों तक पहुंचा दिया.

जवाब में चेन्नई ने शुरुआत से इस बड़े स्कोर को पार पाने की मंशा जाहिर कर रखी थी और प्लेसिस, सुरेश रैना और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अहम पारियां भी खेली.

पंजाब की ओर से मुरलीधरन समय समय पर चेन्नई के मजबूत विकेट लेते रहे और मैच अंत तक बराबरी का ही कहा जा सकता है.

लेकिन अंतिम ओवर तक चेन्नई ने जीत की कामना नहीं छोड़ी और एल्बी मोर्केल ने अंतिम ओवरों में बड़ी हिट्स लगाकर मेजबान टीम को जीत का स्वाद चखाया.

दो मैचों में लगातार हारने के बाद चेन्नई टीम की गाडी अब फिर पटरी पर लौट चुकी दिख रही है.

पंजाब की बल्ले-बल्ले

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption मार्श ने आईपीएल के इतिहास में अपना अच्छा रिकॉर्ड बरकरार रखा है.

गुरूवार को दूसरा मैच मोहाली में खेला गया जिसमे घरेलू टीम किंग्स इलेवेन की भिडंत पुणे की टीम से थी.

पंजाब की टीम अभी तक के आईपीएल-5 में एक भी मैच नहीं जीत सकी थी.

लेकिन इंग्लैंड के गेंदबाज मैस्केरान्हास के पांच विकटों और शॉन मार्श के बेहतरीन अर्धशतक की बदौलत टीम ने प्रतियोगिता में जीत का खाता खोल ही लिया.

मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए पुणे की टीम अपने पूरे 20 ओवर भी नहीं खेल सकी और 115 के स्कोर पर ही उसके सभी विकेट गिर चुके थे.

मेजबान टीम को इस लक्ष्य तक पहुँचने में खासी दिक्कत नहीं हुई और मार्श के नाबाद 64 रन और कप्तान गिलक्रिस्ट की अच्छी पारी की बदौलत उन्होंने इस लक्ष्य को आसानी से पूरा कर लिया.

संबंधित समाचार