कहां होगा ओलंपिक 2020?

टोक्यो इमेज कॉपीरइट k
Image caption अगर टोक्यो को मेजबानी मिली तो यह उसका 'लोगो' होगा

टोक्यो (जापान), मैड्रिड (स्पेन), इस्तानबुल (तुर्की), दोहा (कतर) या बाकू (अजरबायजान). साल 2020 का ओलंपिक इनमें से किस शहर में होगा?

इन पांचों शहरों ने 'ऐसोसिएशन ऑफ नेश्नल ओलंपिक कमेटी' को अपनी प्रस्तुति देते हुए साल 2020 ओलंपिक की मेजबानी का अपना दावा पेश किया है.

अपनी 10 मिनट की प्रस्तुति में हर शहर ने उनके यहां ओलंपिक कराने के फायदों पर जोर दिया.

आईओसी की कार्यकारिणी कमेटी अगले महीने फैसला करेगी कि क्या वे इनमें से सभी को उम्मीदवार रखा जाए या फिर इस सूची को छोटा किया जाए.

सितंबर 2013 में मेजबानी करने वाले शहर को चुना जाएगा.

क्या हैं दावे

कतर के शहर दोहा के सामने दो प्रमुख मुद्दे रहे हैं--महिलाओं को शामिल करना और खाड़ी का मौसम.

दोहा ने इस साल पहली बार ओलंपिक में महिलाओं के दल को भेजा है और उन्होंने यह भी कहा कि दोहा में ओलंपिक कराने से मध्य पूर्वी देशों में महिला प्रतियोगियों की स्थिति सुधर सकती है.

हालांकि वह ओलंपिक को गर्मियों की बजाय अक्तूबर में कराना चाहेगा.

कतर की ही तरह मुस्लिम देश अजरबायजान ने भी महिलाओं के लिए अवसरों को बढ़ावा देने पर बल दिया. बाकू ने यह भी कहा कि वह "दुनिया की सबसे पुरानी सास्कृतियों में से है जिससे बहुत कम लोग परिचित हैं."

ट्रैफिक जाम के लिए बदनाम इस्तानबुल ने हर दो प्रतिसपर्धा के स्थानों में 20 मिनट से कम दूरी का वादा किया और कहा कि वे शहर में यातायात पर 16 अरब डॉलर खर्च कर रहा है.

बड़ी आबादी वाले शहर टोक्यो ने कहा कि 31 में से 28 प्रतिस्पर्धाओं के स्थान उसके ऐथलीट गांव से केवल पांच मील की दूरी पर होंगे. यह भी कहा गया कि यह शहर 'पूरी तरह से सुरक्षित' है.

संबंधित समाचार