चैंपियंस लीग: पाकिस्तानी टीम के भारत आने के आसार बढ़े

एन श्रीनिवासन इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption बीसीसीआई प्रमुख श्रीनिवासन ने इस फैसले की जानकारी दी

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई को चैंपियंस लीग टी-20 प्रतियोगिता में पाकिस्तानी टीमों को बुलाने पर कोई आपत्ति नहीं है.

बीसीसीआई अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने बीसीसीआई की कार्यसमिति की बैठक के बाद बताया, "अक्तूबर में होने वाले चैंपियंस लीग टी-20 में पाकिस्तानी टीम के खेलने पर बीसीसीआई को कोई आपत्ति नहीं है. बीसीसीआई चैंपियंस लीग की गवर्निंग काउंसिल को ये सिफ़ारिश करेगी."

मुंबई में 26 नवंबर 2008 को हुए हमले के बाद से ही पाकिस्तानी टीमें चैंपियंस लीग में नहीं खेली हैं और न ही इंडियन प्रीमियर लीग में किसी टीम ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों के लिए बोली लगाई थी.

उस हमले के बाद से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट संबंध स्थगित हैं और अब ये संबंध फिर से शुरू करने की आवाजें उठ रही हैं.

चैंपियंस लीग टी-20 प्रतियोगिता तीन देशों की ओर से आयोजित होती है. इसका आयोजन बीसीसीआई के अलावा क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और क्रिकेट साउथ अफ्रीका संयुक्त रूप से करता है.

इसलिए प्रतियोगिता की गवर्निंग काउंसिल में इन देशों के भी प्रतिनिधि होंगे और अंतिम फैसला उन्हीं को लेना होगा. मगर क्रिकेट में भारतीय बोर्ड के दबदबे को देखते हुए बीसीसीआई की सिफारिश स्वीकार कर लिए जाने की संभावना है.

पाकिस्तान का घरेलू टी-20 टूर्नामेंट सियालकोट स्टालियन्स टीम ने जीता है. इस टीम के कप्तान शोएब मलिक हैं.

इसलिए जब पाकिस्तानी टीम को औपचारिक रूप से इस टूर्नामेंट में खेलने की अनुमति मिल जाएगी तो यही टीम पाकिस्तान की ओर से आएगी.

इस बार की चैंपियंस लीग प्रतियोगिता भारत में होनी है और अभी तक उसका कार्यक्रम नहीं जारी हुआ था.

ऐसे में पाकिस्तान से टीम को किए जाने पर श्रीनिवासन ने कहा, "चैंपियंस लीग भारत में होनी है, जिसका ब्यौरा समय से जारी कर दिया जाएगा. चैंपियंस लीग में जहाँ तक पाकिस्तान से टीम को शामिल करने का सवाल है तो ये लीग की गवर्निंग काउंसिल करेगी."

उनका कहना था, "बीसीसीआई गवर्निंग काउंसिल को बता देगी कि उसे इस पर आपत्ति नहीं है और अंतिम फैसला उन्हें करना है. हम फिलहाल इतना ही कह रहे हैं."

संबंधित समाचार