आईपीएल: पंजाब और राजस्थान की जीत

अजिक्या रहाणे इमेज कॉपीरइट AP
Image caption फिर चला अजिंक्या रहाणे का बल्ला. उन्होंने पुणे के विरुद्ध 61 रन बनाए.

इंडियन प्रीमियर लीग में रविवार को हुए मैच राजस्थान रॉयल्स और किंग्स इलेवन पंजाब ने जीत लिए हैं.

रविवार का पहला मैच जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में राजस्थान रॉयल्स और पुणे वॉरियर्स के बीच हुआ.

स्थानीय टीम ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाज़ी की. राजस्थान रॉयल्स ने अजिंक्या रहाणे के 61 और शेन वॉटसन के 58 रनों के सहारे बीस ओवरों में 170 रन बनाए.

पुणे के लिए अच्छी गेंदबाज़ी करते हुए आशिष नेहरा ने चार ओवरों में 23 रन देकर तीन विकेट झटके.

पुणे वॉरियर्स के पिछले मैच में बाहर बैठने वाले पूर्व भारतीय कप्तान सौरभ गांगुली रविवार को कुछ खान नहीं कर पाए और महज दो रन बनाकर पैवेलियन लौट गए. लेकिन ये मैच अजित चांडिला के गेंदबाज़ी के लिए याद किया जाएगा.

उन्होंने मैच के पहले ओवर का पांचवी गेंद पर जेसी रायडर और छठी पर गांगुली की विकेट झटकी. इसका मतलब ये हुआ कि वो अपने अगले ओवर की पहली गेंद पर विकेट लेकर हैट्रिक हासिल कर सकते थे.

और हुआ भी ठीक ऐसे ही. चांडिला ने अपने दूसरे और मैच के तीसरे ओवर की पहली गेंद पर रॉबिन उथप्पा की विकेट लेकर आईपीएल के मौजूदा सीज़न की पहली हैट्रिक अपने नाम की.

इन शुरूआती झटकों के बाद पुणे की टीम संभल नहीं पाई और बीस ओवर में 125 रन ही बना पाई.

गुरकीरत का धमाका

इमेज कॉपीरइट AFP Getty
Image caption गुरकीरत ने आखिरी ओवर की चार गेंदों पर 16 रन बनाकर पंजाब को जीत दिलाई

दूसरा मैच मोहाली के पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन मैदान पर किंग्स इलेवन पंजाब और डैक्कन चार्जर्स के बीच हुआ.

डैक्कन चार्जर्स ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए 190 रन बनाए.

टीम के इस स्कोर में शिखर धवन के 50 गेंदों पर 70 रन और कैमरन व्हाइट के 41 गेंदों पर 67 रन शामिल रहे.

इस बड़े स्कोर का पीछा करते हुए पंजाब की टीम ने शुरूआत में ही दो विकेट खो दिए. बाद में अज़हर महमूद और डेविड हस्सी ने बल्लेबाज़ी को दिशा दी लेकिन महमूद के आउट होने के बाद टीम एक बार फिर पिछड़ती नज़र आई.

आईपीएल सीज़न पांच के कई मैचों की तरह इस मैच का फ़ैसला भी अंतिम गेंद पर ही हुआ.

अंतिम ओवर में पंजाब को 16 रन चाहिए थे. डेविड हस्सी ने पहली गेंद पर दो रन और दूसरी पर एक रन लेकर स्ट्राइक युवा बल्लेबाज़ गुरकिरत मान को दिया.

तब लगा कि अब ये लक्ष्य पाना मुश्किल हो जाएगा क्योंकि अब चार गेंदों पर 13 रनों की ज़रुरत थी. लेकिन गुरकिरत का इरादा मैच जीतने का था.

उन्होंने तीसरी गेंद पर छक्का, चौथी पर चौक्का, पांचवी पर दो रन और आख़िरी गेंद पर छक्का मारकर पंजाब को यादगार जीत दिला दी.

मैच में 65 रन बनाने वाले डेविड हस्सी को मैन ऑफ द मैच का खिताब दिया गया.

संबंधित समाचार