मैरीकॉम की ओलंपिक दावेदारी को झटका

मैरीकॉम
Image caption मूल रूप से मणिपुर की मैरीकॉम और एडम्स के बीच मैच में कांटे की टक्कर हुई

भारतीय महिला मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम विश्व चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में हार गई है. बुधवार को दूसरी वरियता प्राप्त खिलाड़ी निकोला एडम्स से हारने के बाद उनका ओलंपिक टिकट भी अधर में लटक गया है.

पांच बार विश्व चैंपियन रह चुकी एमसी मैरीकॉम साल 2001 के बाद प्रतियोगिता से पहली बार खाली हाथ लौटेंगी.

अब अगर एडम्स अपना सेमी फाइनल मैच भी जीत जाती है तभी मैरीकॉम लंदन ओलंपिक्स में भाग ले पाएंगी.

ओलंपिक्स के इतिहास में पहली बार लंदन में महिलाओं की मुक्केबाज़ी प्रतियोगिता 51 किलो, 60 किलो और 75 किलो के भार श्रेणियों में शुरू होगी.

इक्यावन किलो भार श्रेणी में एशिया के लिए दो ही स्थान है जिसमें से एक स्थान पर चीन की रेन कैंकन पहले से ही काबिज है.

मैरीकॉम के अलावा एक अन्य क्वार्टर फाइनल मुकाबले में उत्तर कोरियाई खिलाड़ी हेइ किम अपनी रूसी प्रतिद्वंदी एलिना सावेलयेवा से हार गई.

सेमीफाइनल पर नजर

क्वार्टर फाइनल मुकाबलों की दोनों विजेता निकोला एडम्स और एलिना सावेलयेवा अब सेमी फाइनल में भिड़ेंगे.

सेमी फाइनल मुकाबले के परिणाम से ये तय होगा कि लंदन ओलंपिक में मैरीकॉम जाएंगी या किम.

मूल रूप से मणिपुर की मैरीकॉम और एडम्स के बीच मैच में कांटे की टक्कर हुई जिसमें वो 11-13 से हार गई.

पीटीआई के अनुसार, मुकाबले के बाद मैरीकॉम ने कहा, “मैने जीतने की पूरी कोशिश की लेकिन हार गई, बताइए क्या कर सकते है. मुझे नहीं पता कि अब आगे मेरे लिए जगह बन पाएगी या नहीं. मै इस बारे में सोचना भी नहीं चाहती.”

हालांकि मुक्केबाजी में भारत के लिए अच्छी खबर ये थी कि महिला मुक्केबाज कविता 81 किलो वजन की श्रेणी में तुर्की की सेम्सी याराली को 15-14 से हराकर मेडल राउंड तक पहुंच गई.

संबंधित समाचार