भारत ने पाकिस्तान को 2-1 से हराया

Image caption अजलान शाह हाकी टूर्नामेंट में भारत पाकिस्तान दोनों की हालत खराब थी.

मैच खत्म होने के ठीक एक मिनट पहले एसवी सुनील के बेहतरीन गोल की बदौलत भारत ने पाकिस्तान को सुल्तान अजलान शाह हाकी टूर्नामेंट में 2-1 से हरा दिया.

भारत की चिर-परिचित प्रतिद्वदी के खिलाफ यह जीत उसके समर्थकों व खुद टीम के लिए सुकून देने भरी थी क्योंकि इसके साथ उसकी फाइनल में खेलने की उम्मीदें भी बन गई थी.

लेकिन न्यूजीलैंड की मेजबान मलेशिया पर जीत के बाद यह धूमिल हो गई. क्योंकि भारत का चांस तभी बनता अगर अर्जेटीना, न्यूजीलैंड और ब्रिटेन अपने बाकी बचे मैच हार जाते और मामला गोल औसत पर जाता.

69वें मिनट में एस के उत्थपा ने दो डिफेंडरों के बीच से लंबा पास सरदार सिंह दिया. सरदार इसे संभालते ही दाएं से तेजी से डी में घुसे सुनील की ओर सरका दिया. सुनील ने लड़खड़ा कर गिरने से पहले इसे गोल में डालने में कोई गलती नहीं की.

संदीप सिंह के गोल की बदौलत भारत पहले हाफ में 1-0 से आगे था. पाकिस्तान ने मैच में अच्छी शरुआत की लेकिन बाद में उसने अपनी पकड़ छोड़ दी. हालांकि दोनों ही टीमों ने गोल करने के कई मौके गंवाए.

कांटे की टक्कर

इस बीच सरवनजीत और पाकिस्तानी खिलाड़ियों के बीच तकरार के हालात भी बने. लेकिन अंपायर रिचमंड ने हालात को बखूबी संभाल लिया.

पाकिस्तान को 6 पेनाल्टी कॉर्नर मिले. इनमें महज 60वें मिनट में चौथे पेनाल्टी कॉर्नर पर गेंद को सोहेल अब्बास गोलकीपर भरत छेत्री के पैरों के बीच से निकाल कर मैच को बराबरी पर ले आए. भारत चार में से केवल एक पर ही को गोल में बदल पाया.

पहले 20 मिनट भारतीय टीम पूरी तरह से बिखरी नजर आई. डिफेंडर आसानी से बाल पर कब्जा गंवा रहे. फॉरवर्ड के लिए ठीक से ट्रेपिंग कर पाना भी मुश्किल हो रहा था. यही कारण रहा कि पाकिस्तान के लिए दबाव बनाना आसान रहा. हालांकि पीछे रघुनाथ और गोलकीपर भरत छेत्री की मुस्तैदी भारत को बचा गई.

आखिरी 15 मिनट में भारतीय टीम ने खुद को संभाला और कुछ बेहतरीन मौके बनाए. हाफ टाईम से ठीक 5 मिनट पहले तुषार खांडेकर के मूव पर बॉल इरफान मोहम्मद के पैर से लगी.

इस पर भारत को एकमात्र पेनाल्टी कार्नर मिला. ड्रेग फ्लिकर संदीप सिंह के लिए इसे पावर के साथ पूरी डिफेंस और गोलकीपर को छका कर गेंद को गोलपोस्ट के दाईं ओर डालने में कोई दिक्कत नहीं हुई.

संबंधित समाचार