कोर्ट पर आते ही लगा मैं चैंपियन हूं: साइना

साइना नेहवाल
Image caption साइना कहती हैं कि रैंकिंग उनके लिए मायने नहीं रखती है.

इंडोनेशियन ओपन का खिताब तीसरी बार जीतने वाली भारतीय बैंडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल का कहना है कि जकार्ता के बैडमिंटन कोर्ट में दाखिल होते ही उन्हें महसूस होने लगा था कि वे चैम्पियन हैं.

खिताबी जीत के बाद स्वदेश लौटीं साइना नेहवाल ने हैदराबाद में कहा कि उन्हें चैम्पियन वाली अनुभूति हो रही थी, लेकिन इसकी वजह खुद उन्हें समझ नहीं आई.

साइना ने कहा कि इंडोनेशियन ओपन के पहले ही मैच में सात हज़ार दर्शक उनकी हिम्मत बढ़ाने के लिए कोर्ट में मौजूद थे, भले ही वो इंडोनेशिया की किसी खिलाड़ी के खिलाफ खेल रही हों, ये देखकर उन्हें बड़ा अच्छा लगा.

ओलंपिक पर नजर

इंडोनेशिया के कोर्ट को अपने लिए भाग्यशाली बताते हुए साइना ने कहा कि अब उनका पूरा ध्यान लंदन ओलंपिक पर है.

उन्होंने कहा कि उनके कोच पुलेला गोपीचंद अभी सिंगापुर में हैं और उनके वापस आने के बाद ही ओलंपिक के लिए योजना को अंतिम रूप दिया जाएगा.

इंडोनेशियन ओपन का खिताब जीतने के बाद भी साइना मानती है कि उनसे कुछ गलतियां हुई हैं जिन्हें वे दूर करेंगी.

साइना ने कहा कि अब उनका पूरा ध्यान इस बात पर होगा कि वे चोटिल न हों और मानसिक रूप से भी पूरी तरह चुस्त रहें.

रैकिंग के बारे में पूछे जाने पर साइना ने कहा कि ये उनके लिए मायने नहीं रखती है. साइना का मानना है कि अगर वो अच्छा खेलेंगी तो किसी दिन नंबर वन बन सकती है और उनका पूरा ध्यान टूर्नामेंट जीतने पर ही रहता है.

संबंधित समाचार