यूरो 2012: फ्रांस को हरा स्पेन सेमीफाइनल में

इमेज कॉपीरइट Getty

शावी एलोंसो के दो बेहतरीन गोलों की बदौलत स्पेन ने फ्रांस को 2-0 से हराकर यूरोपियन कप फुटबॉल प्रतियोगिता के सेमीफाइनल में जगह बना ली है.

अपने करियर का 100वां अंतरराष्ट्रीय मैच खेलते हुए शावी एलोंसो ने पहले हाफ के 19वें मिनट में हेडर के ज़रिए गोल करके अपनी टीम को एक महत्त्वपूर्ण बढ़त दिलवाई.

इसके बाद अतिरिक्त समय के खेल में भी जब स्पेन को एक पेनाल्टी किक मिली तब भी एलोंसो ने ही उसे गोल में दाग कर मैच पर स्पेन का पूरा कब्ज़ा करा दिया.

खेल ख़त्म होने पर एलोंसो ने कहा, "हमें इस बात का एहसास था की यह सबसे महत्त्वपूर्ण मैच है और हम अच्छा भी खेले. शुरुआत में गोल कर देने से ही मैच का रुख बदल गया. मैं कह सकता हूँ कि हम खुश हैं."

अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों की बात हो तो यह सात बार में पहला मौका था जब स्पेन ने फ्रांस को परास्त किया.

अब बुधवार को होने वाले सेमीफाइनल में स्पेन की टीम का मुकाबला पुर्तगाल की टीम से होगा.

स्पेन की टीम इस समय फुटबॉल विश्व कप विजेता भी है.

मुश्किल प्रतिद्वंदी

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption फ्रांस के समर्थक निराश होकर घर लौटे.

हार के बाद फ्रांस की टीम के खिलाड़ी निराश दिखे और उनके कोच लौरेन ब्लाँ ने भी स्पेन की सराहना की.

उन्होंने कहा, "आप जब भी कोई मैच हारते हैं तब कोई न कोई कमी तो होती ही है. लेकिन हमारे खिलाड़ियों ने पूरी मेहनत के साथ मैच में मुकाबला किया. स्पेन के साथ मुकाबला हमेशा कड़ा ही रहता है."

वैसे मैच में स्पेन की टीम की ओर से किया गया पहला गोल उस बात का प्रतीक था जिस बेहतरीन पासिंग खेल के लिए स्पेन की टीम विश्व विख्यात है.

इनिएस्ता ने शानदार दौड़ लगाते हुए फ्रांस की रक्षापंक्ति को छकाया और गेंद को एलोंसो की तरफ सरका दिया, जिसे गोले में तब्दील करने में उन्हें कोई मुश्किल नहीं आई.

जबकि फ्रांस की तरफ से भी दूसरे हाफ में जवाबी हमले हुए लेकिन उनका आक्रमण गोल में तब्दील नहीं हो सका.

संबंधित समाचार