एसपीएल में भारतीय कंपनियों का दबदबा

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption श्रीलंका प्रीमियर लीग में भारतीय क्रिकेटर नहीं खेलेंगे लेकिन इसकी सभी सातों टीमें भारतीय कंपनियों ने खरीद ली हैं

श्रीलंका प्रीमियर लीग (एसपीएल) में भारतीय कंपनियों ने जबरदस्त रुचि दिखाई है. सभी सातों फ्रेंजाइजी भारतीय कंपनियों ने खरीद ली हैं.

यह टूर्नामेंट 10 अगस्त से शुरू होगा और इसका फाइनल 31 अगस्त को खेला जाएगा.

यह सब इसके बावजूद हुआ है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने अपने खिलाड़ियों को इस टी-20 लीग में खेलने की अनुमति नहीं दी है.

भारतीय बोर्ड ने पिछले साल भी अपने खिलाड़ियों को श्रीलंका की लीग के पहले सत्र में खेलने से रोक दिया था.

वधावन होल्डिंग्स ने वायंबा की टीम के लिए 50.2 लाख डॉलर दिए. जबकि नंबर वन स्पोर्ट्स कंसल्टिंग ने कांडूरत्ता की टीम को 40.9 लाख डॉलर में खरीदा है.

मैच

ऊवा और रुहुना के लिए स्पोर्ट्स एंड पर्ल ओवरसीज 40.6 लाख डॉलर देगी.

बसनाहीरा को इंडियन क्रिकेट डंडी ने 40.3 लाख डॉलर में खरीदा है. रुद्र स्पोर्टस ने ऊथुरा का मालिक बनने के लिए 30.4 लाख डॉलर खर्च किया है.

टूर्नामेंट के मैच कोलंबो और पालिकल्ल में खेले जाएंगे.

हर टीम को छह विदेशियों सहित कम से कम 18 खिलाड़ियों को पंजीकृत करने की अनुमति होगी. हालांकि हर टीम एक मैच में सिर्फ दो ही विदेशी खिलाड़ी उतार पाएगी.

हर खिलाड़ी का दाम 5 और 6 जुलाई को होने वाले प्लेयर ड्राफ्ट में तय किए जाएंगे.

संबंधित समाचार