माइकल फेलप्स: मानव नहीं महामानव

 बुधवार, 18 जुलाई, 2012 को 05:19 IST तक के समाचार

माइकल फेलप्स नें 2008 बीजिंग ओलंपिक में आठ स्वर्ण पदक जीत इतिहास बनाया, ये किसी एक खिलाडी के किसी एक खेल आयोजन में सबसे अधिक स्वर्ण पदक थे.

लंदन 2012 में फेलप्स केवल सात स्वर्ण पदकों के लिए तैरते दिखाई देंगे क्योंकि अबकी बार उन्होंने 200 मीटर फ्री-स्टाइल प्रतिस्पर्धा में भाग नहीं लेने का फैसला किया है.

बीजिंग में फेलप्स ने सात विश्व रिकार्ड बनाए और आठ अमरीकी और ओलंपिक रिकॉर्ड तोडे़.

फेलप्स के नाम कुल 16 ओलंपिक मेडल हैं जिनमें से 14 स्वर्ण पदक हैं. फेलप्स से आगे सिर्फ एक सोवियत जिमनास्ट लार्वसा लतिनीना हैं, जिन्होंने 1956 से 1964 के बीच 16 ओलंपिक मेडल जीते हैं.

ओलंपिक में फेलप्स

2008 बीजिंग ओलंपिक- 8 स्वर्ण पदक

2004 एथेंस ओलंपिक - 6 स्वर्ण पदक, दो रजत पदक

2000 सिडनी ओलंपिक- कोई पदक नहीं, 200 मीटर बटरफ्लाई में पांचवें स्थान पर रहे.

इतना ही नहीं फेलप्स विश्व तैराकी चैंपियनशिप के सबसे सफल तैराक हैं जिन्होनें इस स्पर्धा में 26 स्वर्ण पदक जीते हैं.

तैराकी की दुनिया में उनके कद का अंदाजा इसी बात से लगाया जा कहता हैं कि इस साल शंघाई में हुई इस विश्व चैंपियनशिप में वो चार गोल्ड जीत पाने में सफल हुए और माना गया कि उनका ये प्रदर्शन निराशाजनक था.

ऐसा नहीं हैं कि फेसप्स के जीवन में उतार चढ़ाव नहीं आए, 2009 में फेलप्स की गांजा पीते हुए तस्वीर सामने आने के बाद अमरीकी तैराकी संघ ने फेलप्स पर तीन महीने का प्रतिबंध लगा दिया था. इतना ही नहीं फेल्पस के एक प्रायोजक ने भी फेलप्स का साथ छोड़ दिया.

इसके बाद फेसप्स ने अपने बुरे व्यहवार के लिए सार्वजनिक माफी भी मांगी.

शुरुआत

बाल्टीमोर में पैदा हुए फेलप्स ने तैराकी की शुरुआत सात साल की उम्र में की. बचपन में वो बहुत ही उतावले और कहीं भी अपना ध्यान नहीं लगाता था. इसके सामाधान के लिए उन्होने तैराकी शुरु की ताकि वो अपनी अतिरिक्त ऊर्जा का सही इस्तेमाल कर सकें.

पंद्रह साल नौ महीने की उम्र में विश्व तैराकी रिकार्ड तोडने वाले वो सबसे युवा खिलाड़ी बने जब उन्होंने 200 मीटर बटरफ्लाई में नया रिकार्ड बना डाला.

2003 में हुई विश्व चैंपियनशिप में वो एक ही प्रतिस्पर्धा में पांच रिकार्ड तोड़ने वाले पहले खिलाड़ी बने.

क्या आप जानते हैं

फेलप्स की बांहो का फैलाव उनकी लंबाई यानी छह फुट चार इंच से तीन इंच ज्यादा हैं. एक आम इंसान की बांहो को फैलाव उनकी लंबाई जितना होता हैं लेकिन फेलप्स को इस अतिरिक्त फैलाव का फायदा मिलता हैं और वो अपने प्रतिद्वंद्वियों से ज़्यादा ताकत लगा पाते हैं.

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.