गर्भवती नूरी की नजर ओलंपिक गोल्ड पर..

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

मलेशिया की नूरी सूरियानी एक निशानेबाज हैं और उनकी निगाहें लंदन ओलंपिक में पदक पर टिकी हैं.

28 जुलाई को वे लंदन में 10 मीटर महिला एयर राइफल प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए मैदान में उतरेंगी, पर नूरी बाकी महिला खिलाड़ियों से अलग हैं. वे खिलाड़ी होने के साथ-साथ होने वाली माँ भी हैं यानी वे गर्भवती हैं.

वैसे तो अब तक के ओलंपिक इतिहास में तीन गर्भवती खिलाड़ी हिस्सा ले चुकी हैं लेकिन ऐसी कोई खिलाड़ी नहीं है जो आठ महीने का गर्भ लेकर ओलंपिक में उतरी हों.

इस बारे में नूरी कहती हैं, "कुछ लोग कहते हैं कि मैं पागल हूँ, कुछ मानते हैं कि मैं स्वार्थी हूँ. मैं इस सब को नजरअंदाज कर देती हूँ. मैं उसी पर ध्यान देती हूँ जो मेरा लक्ष्य है और मेरा सपना है."

नूरी का सपना है कि 10 मीटर महिला एयर राइफल प्रतियोगिता में वे मलेशिया को पहली बार स्वर्ण पदक दिलाएँ.

पदक और बच्चा

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

तो क्या ओलंपिक की तैयारियों पर नूरी के गर्भवती होने का असर पड़ा है. तीस साल की नौसेना अधिकारी सूरी कहती हैं, "शुरु शुरु में मॉर्निंग सिक्नेस होती थी. लेकिन उसके बाद से गर्भवती होने से मेरी ट्रेनिंग पर कोई असर नहीं पड़ा है. बल्कि मैं ये कहूँगी कि बेबी वंप या उभरे हुए पेट से मुझे निशाना लगाने में स्थायित्व मिला है."

नूरी के मुताबिक मुश्किल तब होती है जब निशाना लगाते समय अपनी साँस रोकनी होती है और बच्चा अंदर से लात मारता है.

नूरी कहती हैं कि किसी भी प्रतियोगिता से पहले वो अपने अजन्मे बच्चे के साथ बातें करती हैं.

उनके मुताबिक, "जब भी कोई टूरनामेंट होता है तो अपने बच्चे से कहती हूँ कि देखो आज तुम्हारी माँ का मुकाबला है. मैं चाहती हूँ कि इस दौरान तुम शांत रहो. बस थोड़ी देर के लिए उछल कूद मत करना. बाद में अगर तुम सक्रिय होना चाहते हो, उछल कूद करना चाहो तो कोई दिक्कत नहीं."

मलेशिया के लोगों को नूरी से काफी उम्मीदे हैं. वे एशियाई खेलों और राष्ट्रमंडल खेलों में पदक जीत चुकी हैं और अब ओलंपिक में सफलता को लेकर उनसे अजीबोगरीब सवाल पूछे जा रहे हैं.

एक व्यक्ति उनसे पूछता है, "बच्चा आपके पेट में है. अगर आप पदक जीतती हूँ तो आप बच्चे के साथ पदक कैसे बाँटेंगी?"

नूरी खिलखिलाते हुए जवाब देती है- शायद पदक को दो हिस्सों में बाँट लूंगी

लोग उनके लिए कामना कर रहे हैं कि नूरी जब लंदन से लौटें तो पदक और एक स्वस्थ शिशु को लेकर लौटें.