ओलंपिक : मुक्के बरसाते विजेंदर अगले दौर में

विजेंदर सिंह इमेज कॉपीरइट AFP

भारतीय मुक्केबाज़ विजेंदर सिंह ने 75 किलोग्राम वर्ग के अपने पहले मुकाबले में जीत दर्ज कर ली है.

विजेंदर जब अपने विरोधी कजाकिस्तान के दानाबेक शुजेनोव के खिलाफ मुक्के बरसा रहे थे तब दर्शकों में मौजूद भारतीय समर्थक उनके लिए नारे लगा रहे थे. विजेंदर सिंह ने पहले ही दौर से बढ़त बनाए रखी. पहले राउड में विजेंदर 5-4 से आगे थे. और दूसरे राउंड में 4- 3 से.

तीसरे राउंड में जब मुकाबला खत्म हुआ तो कुल स्कोर था 14-10 और विजेंदर के विरोधी की नाक से खून बह रहा था.

इसके साथ ही विजेंदर आखिरी 16 में पहुँच गए हैं.

प्रतियोगिता के बाद बीबीसी संवाददाता पंकज प्रियदर्षी से बातचीत में उन्होंने कहा, "मैं जीत के लिए खेलता हूं, जैसी रणनीति हमने बनाई थी, वैसे खेलने में हम कामयाब रहे."

अन्य मुक्केबाज़

भारत के युवा मुक्केबाज शिव थापा लंदन ओलंपिक से बाहर हो गए हैं.

शिव थापा 56 किलोग्राम वर्ग में अपना पहला ही मुकाबला हार गए हैं.

उन्हें मैक्सिकों के मुक्केबाज ओस्कर वालदेज़ फेरेरो ने 14-9 से हराया.

18 साल के शिव थापा ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने वाले सबसे युवा मुक्केबाज़ थे.

उन्होंने एशियन ओलंपिक क्वालिफायर में 56 किलोग्राम भार वर्ग का स्वर्ण पदक जीत कर लंदन का टिकट हासिल किया था.

सात पुरुष एक महिला

'जिस्मानी ताकत से ज्यादा माइंडगेम में विश्वास रखने वाले'शिव थापा से भारतीय खेल-प्रेमियों को बड़ी उम्मीदें थीं.

शिव थापा के अलावा भारतीय मुक्केबाज विजेंदर सिंह का भी शनिवार को पहला मुकाबला होना है.

लंदन ओलंपिक के लिए भारत से इस बार सात मुक्केबाजों का दल गया है.

ओलंपिक के लिए भारत से इस बार सात मुक्केबाजों देवेंद्रों सिंह, जय भगवान, मनोज कुमार, विकास कृष्ण, विजेंदर सिंह, शिव थापा, सुमित सांगवान का दल लंदन गया है.

लंदन ओलंपिक में महिला मुक्केबाजी को पहली बार शामिल किया गया है. भारत से एकमात्र महिला मुक्केबाज मैरीकॉम लंदन गई हैं जिनके पास पहली ही बार पदक जीतने का मौका है.

संबंधित समाचार