चीनी एथलीट ने कहा, नहीं लिया ड्रग्स

 मंगलवार, 31 जुलाई, 2012 को 14:21 IST तक के समाचार
ये शिवेन

शिवेन की तुलना अमरीकी तैराक रियान से हो रही है

लंदन ओलंपिक में व्यक्तिगत तैराकी स्पर्धा में नया कीर्तिमान बनाने वाली चीन की युवा तैराक ये शिवेन का कहना है कि उन्होंने किसी तरह की कोई शक्तिवर्धक दवा या ड्रग्स नहीं लिया है.

उन्होंने ये भी कहा है कि उनका प्रदर्शन कड़ी मेहनत का नतीजा है.

सोलह वर्षीय शिवेन का ये बयान तब आया है जब अमरीका के एक अग्रणी कोच ने उनके प्रदर्शन पर सवाल उठाए हैं.

ओलंपिक में डोपिंग टेस्ट

ये शिवेन

शिवेन ने अंतिम क्षणों में बिजली की गति से तैरकर सबकों दंग कर दिया

वैसे शिवेन के खिलाफ ड्रग्स लेने का कोई सुबूत नहीं मिला है और पदक जीतने वाले सभी खिलाड़ियों का डोपिंग टेस्ट किया जाता है.

सोमवार को हुई स्पर्धा में शिवेन ने अपना ही व्यक्तिगत रिकॉर्ड तोड़ते हुए पहले के मुकाबले पांच सेकंड कम समय लेकर 400 मीटर तैराकी में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था.

इतना ही नहीं, आखिरी 50 मीटर की दूरी उन्होंने जिस गति से तैरकर पार की, वो पुरुषों की स्पर्धा में अमरीकी स्टार रियान से कहीं अधिक थी.

'अविश्वसनीय' प्रदर्शन

"ये मेरी कड़ी मेहनत और प्रशिक्षण का परिणाम है, मैं कभी किसी प्रतिबंधित दवा का सेवन नहीं करूंगी"

ये शिवेन

शिवेन के गजब के प्रदर्शन से कमेंटेटर भी दंग रह गए थे और उन्होंने तभी कह दिया था कि इस तैराक के प्रदर्शन पर सवाल उठेंगे.

'वर्ल्ड स्विमिंग कोचेस एसोसिएशन' के कार्यकारी निदेशक जॉन लियोनार्ड का कहना है कि शिवेन का प्रदर्शन 'अविश्वसनीय' और 'परेशान करने वाला' है.

लेकिन अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के मेडिकल कमीशन के अध्यक्ष अर्ने जुंगक्विस्ट ने इन अटकलों को 'दुखद' बताया है.

उनका कहना है, ''किसी खिलाड़ी के असाधारण प्रदर्शन को देखने के फौरन बाद ही उस पर संदेह जताना मेरे हिसाब से खेलों के आकर्षण के खिलाफ है.''

'उम्मीद के अनुरूप प्रदर्शन'

संदेहों के बारे में पूछे जाने पर शिवेन ने संवाददाताओं से कहा, ''ये मेरी कड़ी मेहनत और प्रशिक्षण का परिणाम है, मैं कभी किसी प्रतिबंधित दवा का सेवन नहीं करूंगी.''

"शिवेन 300 मीटर के बाद पिछड़ गई थीं और दौड़ जीतने के लिए उन्हें बेहतरीन प्रदर्शन की जरूरत थी, लेकिन रियान ने तो पहले ही बढ़त बना ली थी और उन्हें ज्यादा मेहनत की जरूरत नहीं थी"

शू छी

वहीं चीन की शिन्हुआ समाचार एजेंसी के मुताबिक, चीन की तैराकी टीम के दलनायक शू छी का कहना है कि शिवेन से इसी प्रदर्शन की उम्मीद थी.

वे कहते हैं, ''रियान से शिवेन के प्रदर्शन की तुलना करने का कोई औचित्य नहीं है.''

शू छी का कहना है, ''शिवेन 300 मीटर के बाद पिछड़ गई थीं और दौड़ जीतने के लिए उन्हें बेहतरीन प्रदर्शन की जरूरत थी, लेकिन रियान ने तो पहले ही बढ़त बना ली थी और उन्हें ज्यादा मेहनत की जरूरत नहीं थी.''

ओलंपिक में यदि कोई खिलाड़ी बेहद असाधारण प्रदर्शन करता है और उन पर ड्रग्स लेने का संदेह जताया जाए तो संबंधित खिलाड़ी के अतिरिक्त परीक्षण भी किए जा सकते हैं.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.