ओलंपिक: खिलाड़ी जब 'हारने के लिए खेले'

बैडमिंटन इमेज कॉपीरइट Xinhua
Image caption चीन की यू यांग और वांग शिलाओली पर जानबूझ कर ढीला खेलने का आरोप

बैडमिंटन विश्व संघ ने आठ महिला बैडमिंटन खिलाड़ियों पर युगल मुकाबलों में जानबूझ कर हारने का आरोप लगाया है.

इनमें दो जोड़ियां दक्षिण कोरिया की, एक चीन और एक इंडोनेशिया की है.

चीन की यू यांग और वांग शिलाओली की जोड़ी और दक्षिण कोरिया की जंग क्यूंग-यन और किम हा ना की जोड़ी पर ये आरोप स्टेडियम में मौजूद दर्शकों के शोर-शराबे के बाद लगे हैं.

ये दोनों जोड़ियां पहले ही क्वार्टर फाइनल में पहुंच चुकीं थीं. ऐसी ख़बरें हैं कि ये जोड़ियां इसलिए हारीं ताकि उन्हें क्वार्टर फाइनल में आसान टीमों से मुक़ाबला मिले.

दक्षिण कोरिया की टीम आखिर में मैच जीत गई है और अब वो चीन की टियान चिंग और झाओ युनलेई से खेलेंगे.

दक्षिण कोरिया की जोड़ी ने कोई टिप्पणी नहीं की लेकिन चीन की यू ने कहा कि वांग और नॉक-ऑउट स्तर के लिए अपना दमखम बचाकर रखना चाहती थीं.

रेफरी की चेतावनी

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption लचर प्रदर्शन को देखकर रेफरी ने खिलाड़ियों को चेतावनी भी दी.

पहले गेम में सबसे लंबी रैली सिर्फ़ चार शॉट तक चली जिसके बाद मैच रेफरी थॉर्स्टन बर्ग कोर्ट पर आए और खिलाड़ियों को चेतावनी दी.

उसके बाद दक्षिण कोरिया की हा जुंग-यन और किम मिन-जंग के इंडोनेशियाई जोड़ी मेलियाना जौहरी और ग्रेसिया पोली के साथ हुए मैच पर भी विश्व बैडमिंटन संघ ने प्रश्न उठाए.

ये दोनों जोड़ियां पहले से ही क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर चुकीं थीं.

बाद में कोरिया की महिला युगल टीम ने इंडोनेशिया को एक के मुकाबले दो सेट से हराया.

विश्व बैडमिंटन संघ ने बयान जारी करते हुए आरोपों की पुष्टि की है. संघ ने कहा है कि चार जोड़ियों पर ‘मैच जीतने के लिए पूरा दम न लगाने’ और ‘खेल को हानि पहुँचाने वाला व्यवहार करने’ का अभियोग लगाया जा रहा है.

संबंधित समाचार