मैरी कॉम ने पक्का किया भारत का चौथा पदक

इमेज कॉपीरइट PTI

भारत की महिला मुक्केबाज़ और पाँच बार विश्व चैंपियन रही एमसी मैरी कॉम ने 51 किलोग्राम मुक़ाबले के सेमीफाइनल में जगह बना ली है और साथ ही कम से कम कांस्य पदक पक्का कर लिया है.

क्वार्टर फ़ाइनल मैच में मैरी कॉम ने ट्यूनिशिया की मरुवा रहाली को 15 के मुकाबले छह अंकों से मात दी.

दो दो- मिनट के चार राउंड खेले गए जिसके पहले राउंड में दोनों ही खिलाड़ियो ने संभल कर शुरुआत की. इस चक्र को मैरी कॉम 2-1 के अंतर से जीतने में कामयाब रही.

दूसरे राउंड में भी मैरी कॉम ने अपनी बढ़त बनाई रखी और 3-2 से इसे जीता. लेकिन तीसरे राउंड में मैरी कॉम ने जमकर मुक्के बरसाए और 6-1 से ये राउंड अपने नाम किया.

आखिरी राउंड में मैरी कॉम ने रहाली को 4-1 से हराया और अंतिम चार में पंहुच गई.

इससे पहले रविवार को रोमांचक मैच में 29 वर्षीय एमसी मैरी कॉम ने 51 किलोग्राम वर्ग में अपनी प्रतिद्वंद्वी पोलैंड की 32-वर्षीय कैरोलिना मिकालजुक को 14 के मुकाबले 19 प्वाइंट्स से हरा दिया.

कैरोलिना मिकालजुक 54 किलोग्राम वर्ग में विश्व चैंपियन रह चुकी हैं.

मैरी कॉम रिकॉर्ड बनाने की दहलीज पर हैं. अगर वो स्वर्ण जीतती हैं तो वो ऐसा करने वाली पहली भारतीय महिला होंगी.

इससे पहले कर्णम मल्लेश्वरी और साइना नेहवाल भारत के लिए कांस्य पदक जीत चुकी हैं लेकिन किसी भी भारतीय महिला ने आज तक ओलंपिक में स्वर्ण या रजत पदक नहीं जीता है.