कप्तान टेलर की पारी से संभला न्यूजीलैंड

 शनिवार, 1 सितंबर, 2012 को 00:15 IST तक के समाचार

न्यूज़ीलैंड के कप्तान रॉस टेलर का ये सातवां शतक है.

न्यूज़ीलैंड के कप्तान रॉस टेलर के शानदार 113 रन की बदौलत बैंगलोर टेस्ट में मेहमान टीम ने पहले दिन 328 रन बनाकर टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचा दिया है.

न्यूज़ीलैंड को भारत के खिलाफ इस दूसरे टेस्ट में शुरुआती झटके लगे थे जब 100 रन के भीतर तीन खिलाड़ी पैविलियन लौट गए थे.

लेकिन कप्तान रॉस टेलर ने शानदार पारी खेलते हुए न्यूज़ीलैंड की पारी को संभाला और अपना सातवां शतक पूरा करते हुए टीम को एक सम्मानजनक स्कोर पर पहुंचा दिया.

बैंगलोर के चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले जा रहे टेस्ट के पहले दिन का खेल खराब रोशनी की वजह से समय से पहले खत्म हो गया.

तब तक न्यूज़ीलैंड ने छह विकेट खोकर 328 रन बना लिए थे.

न्यूज़ीलैंड की बल्लेबाज़ी

न्यूज़ीलैंड की तरफ से सलामी बल्लेबाज़ गुप्तिल ने 53 रन बनाए जबकि मैक्कुलम बिना कोई रन बनाए आउट हो गए.

वान विक 63 रन बनाकर और ब्रेसवेल 30 रन बनाकर अभी भी क्रीज़ पर डटे हुए हैं.

हैदराबाद में खेले गए पहले टेस्ट में न्यूज़ीलैंड की टीम दोनों ही पारियों में लड़खड़ा गई थी.

लेकिन दूसरे टेस्ट में रॉस टेलर की टीम ने अपने बल्लेबाज़ी के प्रदर्शन में काफी सुधार कर लिया है.

कप्तान टेलर पहले टेस्ट की दोनों पारियों में असफल रहे थे.

अपनी 113 रन की पारी में उन्होंने 16 चौके और दो छक्के लगाए.

भारतीय स्पिनर प्रज्ञान ओझा ने चार विकेट लिए

चेन्नास्वामी स्टेडियम में किसी भी मेहमान टीम द्वारा पहले दिन बनाया गया अब तक का ये सबसे बड़ा स्कोर है.

भारत की गेंदबाज़ी

भारत की गेंदबाज़ी में पहले दिन का खेल स्पिनर प्रज्ञान ओझा के नाम रहा.

उन्होंने 90 रन देकर न्यूज़ीलैंड के चार खिलाड़ियों को आउट किया.

प्रज्ञान ने गुप्तिल, विलियम्सन, टेलर और फ्रैंकलिन को आउट किया.

जबकि ज़हीर खान और आर अश्विन को एक-एक विकेट मिले.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.