माइकल शूमाकर फिर हुए रिटायर

फॉर्मूला वन वर्ल्ड चैम्पियनशिप का खिताब सात बार जीतने वाले माइकल शूमाकर ने इस सीज़न के बाद संन्यास लेने की घोषणा की है.

वर्ष 1991 में अपने करियर की शुरूआत करने वाले माइकल शूमाकर ने 19 सीज़न में 91 रेस जीती हैं. वे वर्ष 1996 में फेरारी से जुड़े थे और इससे फेरारी के दिन फिर गए थे.

बेनेटन के साथ वर्ष 1994 में अपना पहला खिताब जीतने वाले शूमाकर कहते हैं, ''मैं अभी भी बेहतरीन ड्राइवरों से मुक़ाबला कर सकता हूं, लेकिन एक समय ऐसा आता है जब गुड-बाय कहना बेहतर होता है.''

वे कहते हैं, ''मैं ऐसा कोई भी काम नहीं करता जिसे करने के लिए मेरा इरादा सौ प्रतिशत पक्का न हो. पिछले महीने मुझे कुछ संदेह थे. इस फैसले से मैं खुद को उन संदेहों से आज़ाद महसूस करता हूं.''

फे़रारी, मर्सिडीज़ और शूमाकर

वर्ष 2000 से 2004 के बीच लगातार चार खिताब अपने नाम करने वाले शूमाकर पहली बार वर्ष 2006 में फॉर्मूला वन से दूर हुए थे.

फिर वर्ष 2010 में उन्होंने मर्सिडीज़ के साथ फॉर्मूला वन में वापसी की लेकिन पहले जैसा कमाल नहीं दिखा पाए.

शूमाकर कहते हैं, ''मैं अपने करियर की तमाम उपलब्धियों से खुश हूं. मैंने बीते छह वर्षों में अपने बारे में बहुत कुछ सीखा.''

फॉर्मूला वन से शूमाकर की विदाई की अटकलें सितम्बर से तब शुरू हुई थीं जब फॉर्मूला वन बॉस बर्नी एक्लेस्टोन ने बीबीसी स्पोर्ट्स से उनके संन्यास लेने के बारे में कहा था.

मर्सिडीज़ में शूमाकर की जगह अब हेमिल्टन लेंगे. शूमाकर का कहना है कि हेमिल्टन के आने से उन्हें संन्यास का फैसला लेने में मदद मिली.

शूमाकर का कहना है कि वे इस सीज़न में अपनी बची हुई रेसों पर ध्यान देंगे. वहीं मर्सिडीज़ टीम के प्रमुख रॉस ब्राउन का कहना है कि वे शूमाकर को टीम के साथ जोड़े रखने की कोशिश करेंगे.

संबंधित समाचार