मैच फिक्सिंग: स्टिंग के बाद अंपायर निलंबित

टी-20 विश्व कप
Image caption आरोपों में घिरे अंपायरों ने टी-20 विश्व कप में अंपायरिंग नहीं की

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने हाल ही में श्रीलंका में हुए टी-20 वर्ल्ड कप से जुड़े मैच फ़िक्सिंग में कथित तौर पर शामिल सभी छह अंपायरों को निलंबित कर दिया है.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल ने बयान जारी कर कहा है कि मामले में शामिल अंपायरों के देश के क्रिकेट बोर्ड इस प्रकरण की जाँच करेंगे और इस जाँच के पूरी होने तक वो किसी भी मैंच में अंपायरिंग नही कर पाएंगे.

भारत के एक निजी समाचार चैनल 'इंडिया टीवी' ने अपने एक स्टिंग ऑपरेशन में आरोप लगाया था कि श्रीलंका, बांग्लादेश और पाकिस्तान के छह अंपायर पैसे लेकर टी-20 वर्ल्ड कप के मैच फ़िक्स करने को तैयार थे.

रविवार को ख़त्म हुए टी-20 वर्ल्ड कप में वेस्ट इंडीज़ ने फ़ाइनल मुक़ाबले में मेज़बान श्रीलंका को 36 रनों से हराकर ख़िताब जीता था. चैनल ने ये स्टिंग ऑपरेशन सोमवार को प्रसारित किया.

जाँच जारी

आरापों के घेरे में बांग्लादेश के अंपायर नादिर शाह, श्रीलंका के मौरिस जिल्वा, जेमिनी दिसानायके व सगरा और पाकिस्तान के नदीम गौरी , अनीस सिद्दकी शामिल हैं

आईसीसी का कहना है, "सभी इस बात पर सहमत हुए हैं कि इंडिया टीवी के स्टिंग ऑपरेशन में जिन अंपायरों का नाम आया है वो सभी अंपायर न तो घरेलू और न ही अंतरराष्ट्रीय मैंचों में अंपायरिंग कर सकेंगे."

इससे पहले, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने इंडिया टीवी से उसके पास मौजूद सबूत भी मांगे थे ताकि जांच में उनसे मदद मिल सके.

लेकिन साथ ही आईसीसी ने कहा था, "जिन अंपायरों पर आरोप लगाए गए हैं, उनमें से किसी ने भी टी-20 वर्ल्ड कप के आधिकारिक मैचों में अंपायरिंग नहीं की थी."

इस बीच, जिन छह अंपायरों पर मैच फिक्सिंग के आरोप लगे हैं उनमें से तीन ने बीबीसी से बात की और खुद को निर्दोष बताया है.

संबंधित समाचार