अमरीका चला आईपीएल की राह

 शुक्रवार, 12 अक्तूबर, 2012 को 08:52 IST तक के समाचार
क्रिकेट

भारत में आईपीएल की तर्ज़ पर अमरीका के न्यूयॉर्क में अगले वर्ष जून में टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन किया जाएगा. इसे यूएस ट्वेंटी-20 लीग नाम दिया गया है.

अमरीका में ये अपनी तरह का पहला आयोजन होगा जिसमें कुल छह टीमें हिस्सा लेंगी. यूएस क्रिकेट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी नील मैक्सवेल इस योजना से ख़ासे उत्साहित हैं.

फिलहाल इन छह टीमों के लिए मालिकों की तलाश हो रही है जिसके लिए इस महीने के आखिर तक इच्छुक पार्टियों से टेंडर मगांए जाएंगे.

इस पहल के बारे में नील मैक्सवेल ने बीबीसी को बताया, ''मुझे लगता है कि अमरीका स्पोर्ट्स स्पोंसरशिप फ्रेंचाइज़ ब्रॉडकास्ट के हिसाब से दुनिया का सबसे बड़ा बाज़ार है और क्रिकेट दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा खेल है. इस बाज़ार में इस समय हमारी मौज़ूदगी नहीं है.''

ऊर्जा और रोमांच

"इसमें ऊर्जा है, रोमांच है और मुझे लगता है कि इसके प्रति अमरीकियों की प्रतिक्रिया भी अच्छी रही है. हमने बाज़ार के हिसाब से कुछ प्रयोग किए जिनके परिणाम अच्छे रहे हैं."

नील मैक्सवेल

लेकिन सवाल ये है कि क्रिकेट का ट्वेंटी-20 संस्करण ही क्यों चुना गया, इस पर नील मैक्सवेल कहते हैं, ''इसमें ऊर्जा है, रोमांच है और मुझे लगता है कि इसके प्रति अमरीकियों की प्रतिक्रिया भी अच्छी रही है. हमने बाज़ार के हिसाब से कुछ प्रयोग किए जिनके परिणाम अच्छे रहे हैं.''

पहला आयोजन न्यूयॉर्क शहर में कराने के सवाल पर वे कहते हैं, ''न्यूयॉर्क दुनिया के प्रमुख बाज़ारों में से एक है.''

नील मैक्सवेल का कहना है," इस योजना के लिए उन्हें भारत के इंडियन प्रीमियर लीग की सफलता से बड़ी प्रेरणा मिली है, जिसने बॉलीवुड को अपनी ओर खींचा, हमें उम्मीद है कि अमरीका में यही यही भूमिका हॉलीवुड अदा करेगा, यहां भी कई सेलिब्रिटी हैं जो इससे जुड़ना चाहेंगी."

विदेशी खिलाड़ियों की रुचि के बारे में पूछे जाने पर नील मैक्सवेल ने कहा कि जिन खिलाड़ियों से इस बारे में बात की गई है, उन्होंने अपनी रुचि दिखाई है, इसके साथ क्रिकेट की बेहतरी जुड़ी हुई है, इसलिए मुझे लगता है कि ये आयोजन आईसीसी के लक्ष्यों के अनुरूप होगा.

उन्हें उम्मीद है कि इस आयोजन से अमरीका में निचले स्तर पर क्रिकेट के विकास के लिए धन भी मुहैया होगा.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.