सहवाग के नाम कीर्तिमानों की भरमार

वीरेंद्र सहवाग
Image caption सहवाग ने साल 2011 में वेस्टइंडीज़ के खिलाफ टेस्ट मैच में 60 गेंदों में शतक बनाया था.

वीरेंद्र सहवाग ने अपने टेस्ट करियर का आगाज़ दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वर्ष 2003 में किया और पहले ही टेस्ट में शतक जड़ा. उन्होंने अहमदाबाद में खेले गए पिछले टेस्ट मैच में भी शतक बनाया था जो उनके टेस्ट करियर का 99वां मैच था.

ऐसा कारनामा करने वाले वे दुनिया के दसवें बल्लेबाज बनें. टेस्ट क्रिकेट में दो बार तिहरा शतक बनाने वाले सहवाग भारत के पहले बल्लेबाज़ हैं. इतना ही नहीं, टेस्ट क्रिकेट में भारत की ओर से पहला तिहरा शतक भी सहवाग ने ही लगाया था.

उनका 319 रनों का टेस्ट क्रिकेट स्कोर किसी भी भारतीय द्वारा बनाया गया टेस्ट क्रिकेट का सर्वाधिक स्कोर है. यह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के इतिहास में बनाया गया सबसे तेज़ तिहरा शतक है जो उन्होंने केवल 278 गेंदों का सामना करके बनाया था.

शतकों का रिकॉर्ड

एक दिवसीय क्रिकेट में भी किसी भारतीय द्वारा सबसे तेज़ शतक बनाने का कीर्तिमान सहवाग के नाम है जो उन्होंने केवल 60 गेंदों में वेस्टइंडीज़ के खिलाफ साल 2011 में बनाया था.

वो दुनिया के एकमात्र ऐसे बल्लेबाज़ हैं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में तिहरा और एक दिवसीय क्रिकेट में दोहरा शतक जमाया है. सहवाग के नाम ही भारत की ओर से पहले विकेट के लिए सर्वाधिक शतकीय साझेदारी का रिकॉर्ड है.

सहवाग 11 बार गौतम गंभीर के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए शतकीय साझेदारी कर चुके हैं. इसके पहले ये रिकॉर्ड सुनील गावस्कर और चेतन चौहान के नाम था.

एक-दिवसीय क्रिकेट में सहवाग का स्ट्राइक रेट 104.60 है, वो भी 249 मैचों के बाद, जो किसी भी भारतीय बल्लेबाज का सर्वाधिक स्ट्राइक रेट है.

सहवाग और सचिन तेंदुलकर के नाम भारत की ओर से सबसे ज्यादा छह बार दोहरा शतक बनाने का भी साझा कीर्तिमान दर्ज है.

वो टेस्ट क्रिकेट के पहले ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने दो बार तिहरा शतक तो बनाया ही साथ ही टेस्ट मैच की एक पारी में पांच विकेट भी हासिल किए.

संबंधित समाचार