कछुए की चाल से चला इंग्लैंड का बल्ला!

 गुरुवार, 13 दिसंबर, 2012 को 18:07 IST तक के समाचार
केविन पीटरसन

केविन पीटरसन सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे

भारत के खिलाफ चौथे और सीरीज़ के आखिरी टेस्ट मैच के पहले दिन इंग्लैंड के केविन पीटरसन ने 73 रन बना कर अपनी टीम को शुरुआती झटकों से उबरने में मदद की.

नागपुर में खेले जा रहे चौथे टेस्ट के पहले दिन का खेल खत्म होने तक इंग्लैंड की टीम ने पांच विकेट खोकर 199 रन बना लिए हैं.

टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड के टीम के सलामी बल्लेबाज जल्द ही इशांत शर्मा के शिकार बन गए. इनमें कप्तान एलेस्टर कुक एक और निक क्रोम्पटन तीन रन ही बन सके.

लेकिन इसके बाद पीटरन और जोनाथन ट्रोट 39 ओवर तक क्रीज पर जमे रहे और उनके बीच 86 रन की अहम साझेदारी हुई.

इंग्लैंड का तीसरा विकेट जोनाथन ट्रॉट के रूप में गिरा. उन्हें टेस्ट क्रिकेट में पहली बार उतरे हरफनमौला रवींद्र जडेजा ने बोल्ड किया. ट्रॉट ने सात चौकों की मदद से 44 रन बनाए.

प्रतिष्ठा का प्रश्न

वैसे केविन पीटरसन को छोड़कर इंग्लैंड का कोई भी बल्लेबाजी 50 का आंकड़ा पार नहीं कर सका. पीटरसन के बाद जोनाथन ट्रॉट ने सर्वाधिक 44 रन बनाए.

मेहमान टीम के जो खिलाड़ी पैवेलियन लौट चुके हैं उनमें निक कॉम्पटन, एलेस्टर कुक, जोनाथन ट्रोट, इयान बेल और केविन पीटरसन शामिल हैं.

भारत की ओर से रवींद्र जडेजा और ईशांत शर्मा ने दो-दो जबकि पीयूष चावला ने एक विकेट लिया है.

इंग्लैंड इस सीरीज में 2-1 से आगे चल रहा है और उसे भारत में ऐतिहासिक जीत दर्ज करने के लिए बस नागपुर टेस्ट को ड्रॉ भर कराना है.

इससे पहले अहमदाबाद में हुई पहले टेस्ट में भारत को जीत मिली जबकि मुंबई और कोलकाता टेस्ट इंग्लैंड टीम के नाम रहे.

खराब प्रदर्शन के लिए भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और पूरी टीम को कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा रहा है. ऐसे में नागपुर टेस्ट उनकी प्रतिष्ठा का सवाल बन गया है.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.