डेविस कप: कोरिया को 2-0 की बढ़त

Image caption रंजीत को पहले ही मुकाबले में करारी हार का सामना करना पड़ा.

भारतीय खिलाड़ी वीएम रंजीत और विजयंत मलिक को डेविस कप टेनिस एशिया ओसियाना ग्रुप ए के पहले मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा.

इसके साथ ही दक्षिण कोरिया ने 2-0 से बढ़त बना ली.

पहले मैच में भारतीय खिलाड़ी को एकतरफा मुकाबले में 1-6, 0-6,1-6 से शिकस्त का सामना करना पड़ा.

आरके खन्ना टेनिस स्टेडियम में एक घंटे 23 मिनट तक चले मुकाबले में 27 साल के खिलाड़ी वीएम रंजीत बुरी तरह हारते दिखे.

पहला मैच

खिलाड़ी पूरे मैच के दौरान भारत के इस युवा खिलाड़ी ने सिर्फ एक बार अपनी सर्विस बचाई और सिर्फ एक बार विरोधी की सर्विस तोड़ने में सफल हो पाए.

डेविस कप में पहली बार खेल रहे वीएम रंजीत लगातार संघर्षरत नज़र आए लेकिन इसके बाद भी वो कोरिया के मिन हियोक चो को शिकस्त दे पाने में नाकाम रहे.

वीएम रंजीत की सर्विस काफी कमजोर रही और पहले दो सेट में तो वो अपनी सर्विस पर एक भी गेम नहीं जीत पाए.

उन्होंने अपने कई शॉट नेट पर उलझाने के अलावा बाहर भी मारे, जिसका फायदा विरोधी टीम ने उठाया और मिन हियोक चो ने बिना किसी रुकावट के जीत हासिल कर ली.

दूसरे मैच में विजयंत जियोंग के ख़िलाफ़ 4-6, 5-7 और 0-3 से पिछड़ रहे थे, जब पैर की मांसपेशियों के खिंचाव के कारण वे मैच से हट गए.

इस मुक़ाबले में भारत के लिए एकल वर्ग में विजय मलिक और विराली मुरगेसन रंजीत को जबकि लिएंडर का युगल वर्ग में साथ देने के लिए पूरव राजा को टीम में जगह दी गई है. यानी लिएंडर को छोडकर बाकी सभी खिलाड़ी पहली बार डेविस कप में खेल रहे है.