आईपीएल: मैक्सवेल और अभिषेक नायर की चांदी

  • 3 फरवरी 2013
भारतीय क्रिकेटर आरपी सिंह
Image caption आईपीएल-6 की नीलामी में भारत के आरपी सिंह को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने लगभग दो करोड़ 13 लाख रूपये में ख़रीदा.

ऑस्ट्रेलिया के उभरते हुए ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल इंडियन प्रीमियर लीग(आईपीएल) के छठे संस्करण के सबसे महंगे खिलाड़ी साबित हुए.

आईपीएल के छठे संस्करण के लिए चेन्नई में रविवार को होने वाली खिलाड़ियों की नीलामी ख़त्म हो गई है.

पांच घंटे तक हुई नीलामी में फ्रेंचाइजियों ने 101 में से 37 क्रिकेटर ख़रीदे. इस दौरान खिलाड़ियों को ख़रीदने में 11.89 मिलियन डॉलर्स खर्च किए गए.

बोली लगाए जाने वाले अधिकतर खिलाड़ी बिके नहीं, जबकि कई खिलाड़ी अपने आधार मूल्य से आगे नहीं बढ़ पाए.

खिलाड़ियों की नीलामी मे बाज़ी मारी ऑस्ट्रेलिया के मैक्सवेल ने. मैक्सवेल को मुंबई इंडियंस ने दस लाख डॉलर यानि लगभग पांच करोड़ 31 लाख रुपए में ख़रीदा.

मैक्सवेल को ख़रीदने के लिए मुंबई इंडियंस और नई फ्रेंचाइज़ी हैदराबाद सनराइज़ के बीच 24-वर्षीय मैक्सवेल को ख़रीदने के लिए कड़ी प्रतिस्पर्धा देखने को मिली.

सबसे मज़ेदार बात ये रही कि जब मैक्सवेल को ख़रीदने के लिए लाखों डॉलर की बोली लगाई जा रही थी उस समय वे वेस्ट इंडिज़ के ख़िलाफ़ बल्लेबाज़ी करने के लिए उतरे थे और पहली ही गेंद पर आउट हो गए.

लेकिन मुंबई इंडियन्स की मालिक नीता अंबानी ने केवल आठ वनडे और नौ टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले मैक्सवेल को इतनी बड़ी क़ीमत देकर ख़रीदने

को जायज़ ठहराते हुए कहा, ''वह उदीयमान खिलाड़ी है. वह बल्लेबाज़ी कर सकता है, गेंदबाज़ी कर सकता है और मैं समझती हूं कि वह बेहतरीन क्षेत्ररक्षक है. हमने यहां आने से पहले कुछ खिलाड़ियों को अपने दिमाग़ में रखा था और वह उनमें से एक थे''.

मैक्सेवल के बाद सबसे ऊंची बोली श्रीलंका के गेंदबाज़ अजंता मेंडिस की लगी. मेंडिस को पुणे वॉरियर्स ने सात लाख 25 हज़ार डॉलर या लगभग तीन करोड़ 85 लाख रुपए में ख़रीदा.

भारत के अभिषेक नायर और श्रीलंका के थिसारा परेरा छह लाख 75 हज़ार डॉलर या लगभग तीन करोड़ 60 लाख रूपए में बिके.

अभिषेक नायर को पुणे वॉरियर्स और थिसारा परेरा को नई टीम सनराइज़र्स हैदराबाद ने ख़रीदा. परेरा का बेस प्राइस 50 हज़ार डॉलर था.

ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज़ डिर्क नैन्स को चेन्नई सुपरकिंग्स ने पांच लाख डॉलर में ख़रीदा.

ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की मांग

आईपीएल सीज़न-6 की नीलामी ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग की बोली से शुरु हुई. उन्हें मुकेश अंबानी की मुंबई इंडियंस ने चार लाख डॉलर में ख़रीदा जो उनका बेस प्राइस भी था.

इसके बाद भारतीय गेंदबाज़ आरपी सिंह को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने भी चार लाख डॉलर या दो करोड़ 13 लाख रुपए में ख़रीदा हालांकि उनका बेस प्राइस एक लाख डॉलर ही था. सिंह के लिए आरसीबी, सीएसके और राजस्थान रॉयल्स के बीच मुक़ाबला था.

दक्षिण अफ़्रीक़ा के योहान बोथा को देल्ही डेयरडेविल्स ने साढ़े चार लाख डॉलर में ख़रीदा. इसके अलावा टीम ने न्यूज़ीलैंड के ऑलराउंडर जेसी राइडर को दो लाख 60 हज़ार डॉलर में ख़रीदा.

ऑस्ट्रेलिया के मौजूदा कप्तान माइकल क्लार्क को पुणे वॉरियर्स ने उनके बेस प्राइस चार लाख डॉलर में ख़रीदा. पिछले सीज़न में भी क्लार्क पुणे की टीम का हिस्सा थे जब उनका नीलामी के बाहर फ्रेंचाइस ने एक साल के अनुबंध पर ख़रीदा था.

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ ल्यूक पोमर्सबाख को किंग्सइलेवन पंजाब ने तीन लाख डॉलर में ख़रीदा जबकि उनके ही देश के एक और बल्लेबाज़ फिलिप ह्यूजस को मुंबई इंडियंस ने एक लाख डॉलर में ख़रीदा.

एक और ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी, ऑलराउंडर जेम्स फ़ॉकनर को राजस्थान रॉयल्स ने चार लाख डॉलर में ख़रीदा और तीन लाख डॉलर में मोइसिज़ हेनरिक्स, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की झोली में गिरे.

Image caption आईपीएल-6 की नीलामी ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग की बोली से शुरु हुई.

आईपीएल-6 की नई टीम सनराइज़र्स हैदराबाद ने श्रीलंका के थिसारा परेरा को ख़रीद कर खाता खोला. इसके बाद टीम ने 2012 ट्वेन्टी 20 वर्ल्ड कप जीतने वाली वेस्ट इंडीज़ टीम के कप्तान डैरन सैमी को चार लाख 25 हज़ार डॉलर में ख़रीदा जबकि सैमी का बेस प्राइस एक लाख डॉलर ही था.

भारतीय खिलाड़ी

गेंदबाज़ रुद्रप्रताप सिंह और अभिषेक नायर के अलावा भारत के मनप्रीत गोनी, सुदीप त्यागी, जयदेव उनादकट, पंकज सिंह भी आईपीएल-6 की विभिन्न टीमों का हिस्सा बने.

मनप्रीत गोनी को अभिनेत्री प्रीति ज़िंटा की टीम किंग्स इलेवन पंजाब ने, जयदेव उनादकट और पंकज सिंह को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और सुदीप त्यागी को सनराइज़र्स हैदराबाद ने ख़रीदा.

विकेटकीपरों में दिलचस्पी नहीं

इस बार की नीलामी में सबसे ज़्यादा हैरानी इस बात पर रही कि विकेटकीपरों में किसी भी टीम ने दिलचस्पी नहीं दिखाई.

मैथ्यू वेड, मैट प्रायर, टिम पेयन, कुशल परेरा, प्रसन्ना जयवर्दने, देनेश रामदीन, डेन विलास, कौशल सिल्वा और दिनेश चांदीमल--इनमें से किसी भी विकेटकीपर को किसी टीम ने नहीं ख़रीदा.

एक और ख़ास बात ये रही कि दक्षिण अफ़्रीक़ा के हर्शेल गिब्स, इंग्लैंड के रवि बोपारा, श्रीलंका के उपुल थरंगा, न्यूज़ीलैंड के मार्टिन गुप्टिल जैसे खिलाड़ियों को कोई भी ख़रीदार नहीं मिल सका.

इस ऑक्शन में खिलाड़ियों को सिर्फ़ एक साल के लिए ही अनुबंधित किया जाएगा. अगले साल सभी खिलाड़ियों की नए सिरे से नीलामी होगी.

आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल ने टीम में खिलाड़ियों और उन पर ख़र्च होने वाली दौलत की सीमा तय कर रखी है.

एक फ्रेंचाइजी अपनी टीम में 11 विदेशी खिलाड़ी रख सकती है, जबकि ओवरऑल टीम में 33 से ज्यादा सदस्य नहीं हो सकते है.

संबंधित समाचार