भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट श्रृंखला ने तोड़े 10 रिकॉर्ड

  • 25 मार्च 2013
भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट मैच

दिल्ली के फिरोज़शाह कोटला मैदान पर भारत ने ऑस्ट्रेलिया को हराया तो सबकी ज़ुबान पर एक शब्द था – ऐतिहासिक. पर क्या आप जानते हैं कि ये जीत ऐतिहासिक क्यों है? पेश हैं वो सब रिकॉर्ड्स जो इस शानदार जीत से बने और टूट गए.

1. पहली बार भारत ने 4-0 से किसी टेस्ट श्रृंखला में जीत हासिल की है इससे पहले वो तीन बार टेस्ट श्रृंखलाओं में तीन मैच जीत चुके हैं.

2. भारत ने फिरोज़शाह कोटला मैदान में खेले पिछले 10 मैचों में से नौ में जीत दर्ज की है, एक मैच ड्रॉ रहा.

3. फिरोज़शाह कोटला मैदान में भारत कुल 12 टेस्ट जीत चुका है. भारत के ही स्टेडियम्स में भारत ने इससे ज़्यादा – 13 टेस्ट में जीत – सिर्फ चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में ही दर्ज की है.

4. 1969-1970 में दक्षिण अफ्रीका से 0-4 से हारने के बाद ऑस्ट्रेलिया पहली बार किसी देश से फिर 0-4 से टेस्ट श्रृंखला में हारा.

5. ऑस्ट्रेलिया भारत की ज़मीन पर लगातार सात टेस्ट मैच हार चुका है, किसी देश के खिलाफ ये उनका सबसे बुरा प्रदर्शन है.

6. टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सिर्फ दूसरी बार ऐसा हुआ जब एक टीम ने चार या उससे ज़्यादा बार टॉस जीता और चार या उससे ज़्यादा मैच हारे.

7. 1929 में पर्सी हॉर्नीब्रूक के बाद ग्लेन मैक्सवेल एक टेस्ट में बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी दोनों की ओपनिंग करनेवाले पहले ऑस्ट्रेलियन बने.

8. टेस्ट क्रिकेट के अपने पूरे इतिहास में ऑस्ट्रेलिया ने सिर्फ तीसरी बार रविवार को अपनी दूसरी इनिंग्स की शुरुआत दो स्पिनरों के साथ की.

9. शिखर धवन अपने पहले ही टेस्ट मैच में सबसे तेज़ शतक बनाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज़ बने.

10. वर्ष 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हरभजन सिंह के 32 विकेट लेने के बाद इस टेस्ट श्रृंखला में 29 विकेट लेनेवाले आर अश्विन का प्रदर्शन सबसे बेहतर रहा. टेस्ट मैचों में भारत से लिए सातंवा सबसे अच्छा प्रदर्शन है.

संबंधित समाचार