'मुफ़्त सेक्स सेवा' के बदले मैच फ़िक्सिंग

  • 5 अप्रैल 2013
फुटबाल
Image caption यूरोपोल ने तीन सालों में लगभग 700 मैचों को शक के दायरे में रखने की बात कही है.

यौन सेवा के बदले मैच फिक्स करने के आरोप में फुटबाल के खेल से जुड़े लेबनान के तीन अधिकारियों के खिलाफ़ सिंगापुर में केस दर्ज किया गया है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने भ्रष्टाचार विरोधी जांच ब्यूरो के हवाले से कहा है कि तीनों को गुरूवार को अदालत में पेश किया गया और उनके खिलाफ़ मुफ्त सेक्स सेवाएं प्राप्त करने का मामला दर्ज किया गया है.

ब्लूमबर्ग समाचार एजेंसी ने कहा है कि तीनों लोगों को सिंगापुर के अमारा होटल में मैच के दिन एक एक औरत मुहैया करवाई गईं जिसके बदले में उन्हें मैच को फिक्स करवाना था. ये मामला एशियन फुटबाल कंफेडेरेशन कप से जुडा बताया गया हैं.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स का कहना है कि इस मैच का संबंध कोलकाता के इस्ट बंगाल क्लब से था.

क़ैद और जुर्माना

अगर ये आरोप सही पाए जाते हैं तो इन लोगों को पांच साल की कै़द और अस्सी हज़ार ड़ॉलर का जुर्माना हो सकता है.

ये मामला तब सामने आया है जब फ़ुटबाल मैचों के फिक्स होने का मामला ज़ोर पकड़ता जा रहा है.

फ़ुटबाल के खेलों की अंतरराष्ट्रीय संस्था फीफा ने फ़रवरी में इटली, दक्षिणी कोरिया और चीन में खेल से संबंधित अधिकारियों को मुअत्तल किया, जिनके खिलाफ़ मैच-फिक्सिंग का इलज़ाम था.

यूरोपोल की एक जांच में यह बात सामने आई है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मैचों की हो रही फिक्सिंग में शामिल लोगों का अड्डा सिंगापुर में ही है.

एजेंसी का कहना था कि साल 2008 से 2001 के बीच खेले गए कम से कम 680 मैच ऐसे थे जिन्हें शक के दायरे में रखा जा सकता है.

संबंधित समाचार