श्रीनिवासन नहीं देंगे इस्तीफा, कहा बीसीसीआई का समर्थन

Image caption श्रीनिवासन पर इस्तीफ़े का दबाव है

बीसीसीआई अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने आईपीएल विवाद के बाद पद छोड़ने से मना कर दिया है. उन्होंने बताया कि सट्टेबाज़ी के कथित मामले में उनके दामाद गुरुनाथ की भूमिका पता लगाने के लिए तीन सदस्यीय आयोग का गठन किया गया है.

गुरुनाथ मेयप्पन को आईपीएल में सट्टेबाज़ी के कथित मामले में मुंबई पुलिस ने गिरफ़्तार किया था.

कोलकाता में एक पत्रकार वार्ता में एन श्रीनिवासन ने दो टूक शब्दों में साफ कर दिया कि उन्होंने कुछ भी ग़लत नहीं किया है और वे किसी के दबाव में आकर इस्तीफा नहीं देंगे.

एन श्रीनिवासन ने कहा कि गुरुनाथ की भूमिका की जाँच के लिए आयोग गठित होगा और वे इसका हिस्सा नहीं होंगे. इसमें एक सदस्य बीसीसीआई के बाहर का होगा. उन्होंने ये भी बताया कि राजस्थान रॉयल्स की मैनेजमेंट की भूमिका की भी जांच होगी.

'बीसीसीआई मेरे साथ'

पत्रकारवार्ता की शुरुआत में श्रीनिवासन ने कहा, "पिछले कुछ दिन बतौर पिता और ससुर मुश्किल रहे हैं लेकिन मैं यहाँ बीसीसीआई अध्यक्ष के नाते बैठा हूँ. मैं किसी भी ज़िम्मेदारी से पीछे नहीं हटूँगा.बीसीसीआई बिना पक्षपात के ऐसे किसी भी व्यक्ति, अधिकारी या फ्रेंचाइज़ी के खिलाफ़ कदम उठाएगा जो दोषी पाए जाएँगे.बीसीसीआई ने गुरुनाथ को क्रिकेट और चेन्नई सुपर किंग से जुड़ी गतिविधियों से अस्थाई तौर पर हटा दिया है."

बीसीसीआई अध्यक्ष ने ये भी स्पष्ट किया कि बोर्ड एकजुट है और किसी ने भी उनसे इस्तीफ़े की माँग नहीं की है.

एन श्रीनिवासन ने मीडिया को भी आड़े हाथों लिया और आरोप लगाया कि मीडिया में उनसे जुड़ी ग़लत ख़बरें प्रसारित की गईं.

श्रीनिवासन ने आईपीएल की अहमियत पर ज़ोर देते हुए कहा कि ये प्रतियोगिता बीसीसीआई के लिए बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि इससे युवा खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों के साथ खेलने का मौका मिलता है और नए दर्शक क्रिकेट से जुड़ते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार