श्रीसंत को स्पॉट फ़िक्सिंग मामले में ज़मानत

  • 10 जून 2013

आईपीएल में स्पॉट फ़िक्सिंग के आरोप झेल रहे क्रिकेट खिलाड़ी श्रींसंत और अंकित चव्हाण को दिल्ली की एक अदालत ने ज़मानत दे दी है.

ये खिलाड़ी न्यायिक हिरासत में थे और तिहाड़ जेल में बंद थे. कुछ दिन पहले दिल्ली पुलिस ने इन खिलाड़ियों पर मकोका की धारा लगा दी थी.

क्रिकेट में फ़िक्सिंग- कब, क्या हुआ

ये मामला पिछले महीने उस वक़्त शुरू हुआ जब दिल्ली पुलिस ने स्पॉट फ़िक्सिंग के आरोप में राजस्थान रॉयल्स के खिलाड़ियों श्रीसंत, अंकित चव्हाण और अजीत चंडीला को गिरफ़्तार किया था. इन गिरफ्तारियों के बाद एक के बाद एक कई लोगों का नाम फिक्सिंग या सट्टेबाज़ी के सिलसिले में जुड़ने लगा.

फिर कुछ दिन बाद हिंदी फिल्मों के कलाकार विंदू दारा सिंह को सट्टेबाज़ों से कथित संबंध के आरोप में मुंबई पुलिस ने गिरफ़्तार किया. विंदू दारा सिंह से पूछताछ के बाद मुंबई पुलिस ने गुरुनाथ मेयप्पन को भी गिरफ़्तार किया. हालांकि विंदू और मेयप्पन दोनों को ज़मानत मिल चुकी है.

श्रीसंत तस्वीरों में

श्रीसंत पर स्पॉट फिक्सिंग के आरोप हैं

गुरुनाथ मेयप्पन बीसीसीआई प्रमुख एन श्रीनिवासन के दामाद हैं और आईपीएल की टीम चेन्नई सुपर किंग्स से जुड़े हुए हैं. बात यहाँ तक पहुँची कि बीसीसीआई अध्यक्ष एन श्रीनिवासन के इस्तीफे की माँग उठने लगी. उन्होंने पद से इस्तीफा तो नहीं दिया लेकिन मामले की जाँच होने तक बीसीसीआई के काम से अलग ज़रूर हो गए हैं.

इस पूरे मामले में अगला नाम जुड़ा राजस्थान रॉयल्स के सह मालिक राज कुंद्राका. पिछले दिनों दिल्ली पुलिस ने कुंद्रा से कई घंटों तक पूछताछ की थी. पुलिस आयुक्त नीरज कुमार ने दावा किया था कुंद्रा ने पूछताछ में अपनी टीम पर सट्टा लगाने की बात कबूली है.

बीसीसीआई ने राज कुंद्रा को क्रिकेट से जुड़ी गतिविधियों से निलंबित कर दिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार