युवराज सिंह भारतीय टीम में वापसी की ओर

Image caption युवराज सिंह पिछले कुछ दिनों से ख़राब फ़ार्म में चल रहे थे

ऐसा लगता है कि युवराज सिंह को भारतीय टीम में वापसी के लिए लंबा इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा. वेस्टइंडीज़-ए के खिलाफ बंगलौर में खेले गए मैच में युवराज सिंह ने 89 गेंदों में 123 रन ठोककर भारत-ए का स्कोर 42 ओवरों में चार विकेट पर 312 रनों तक पहुँचा दिया.

युवराज सिंह पिछले कुछ दिनों में ज़हीर खाँ के साथ फ़्रांस के छोटे से शहर में अपनी फ़िटनेस बेहतर करने के प्रयासों में लगे हुए थे.

इसका असर इतनी जल्दी दिखाई देगा, इसकी उम्मीद शायद उनको भी नहीं थी. युवराज के पहले पचास रन 60 गेंदों में आए. लेकिन दूसरे पचास रन पूरे करने के लिए उन्हें सिर्फ़ 20 गेंदों की ज़रूरत पड़ी.

युसुफ़ पठान भी फ़ार्म में

एशले नर्स और निकिता मिलर को युवराज और यूसुफ़ पठान ने मिलकर बुरी तरह से पीटा. दोनों ने मिलकर 10 से भी कम ओवरों में चौथे विकेट के लिए 125 रन जोड़े.

युवराज का अनुकरण करते हुए यूसुफ़ ने नर्स के एक ओवर में 28 रन निकाले. युवराज ने शतक लगाकर अपना शतक पूरा किया, लेकिन वो एक फ़ुलटॉस गेंस पर लोफ़्टेड शॉट मारने के चक्कर में आउट हो गए.

वेस्टइंडीज़-ए की पारी में देवनारायण ही अकेले बल्लेबाज़ थे, जिन्होंने अपनी शुरुआत को अर्धशतक में बदला.

जब उन्होंने सिर्फ़ 58 रनों पर अपना तीसरा विकेट दिया, तो किसी को भी मैच के परिणाम के बारे में कोई संदेह नहीं रह गया था.

एशले नर्स ने 57 रन बनाकर हार को थोड़ी देर तक टालने की कोशिश की लेकिन वो सफल नहीं हो पाए. इस श्रंखला के बाकी दो मैच भी बंगलौर में ही खेले जाएंगे.

संबंधित समाचार