भारत को विराट जीत के शिखर पर पहुंचाया रोहित ने

विराट कोहली और रोहित शर्मा

रोहित शर्मा, विराट कोहली और शिखर धवन का बल्ला जयपुर में कुछ यूँ चला कि ऑस्ट्रेलियाई टीम चारों खाने चित नज़र आई. इस तरह 360 रनों का बड़ा लक्ष्य भी बौना साबित हुआ और भारत ने सिरीज़ के दूसरे वनडे में ऑस्ट्रेलिया को नौ विकेट से हरा दिया.

भारत ने ये स्कोर 43 ओवरों और तीन गेंदों में ही पूरा कर लिया.

जब ऑस्ट्रेलियाई पारी समाप्त हुई थी और स्कोर बोर्ड पर पाँच विकेट पर 359 रन दिख रहे थे तो लगा था कि सिरीज़ में ऑस्ट्रेलिया 2-0 की बढ़त लेने वाली है. टीम के सभी शुरुआती पाँच बल्लेबाज़ों ने अर्द्धशतक जमाए थे. कप्तान जॉर्ज बेली ने नाबाद 92 रनों की पारी खेली.

मगर वे सारी पारियाँ भारतीय पारी के सामने बौनी साबित हो गईं. सलामी बल्लेबाज़ शिखर धवन सिर्फ़ पाँच रनों से शतक चूक गए वरना तीनों बल्लेबाज़ों के शतक होते.

(स्कोर देखने के लिए क्लिक करें)

दूसरे सलामी बल्लेबाज़ रोहित शर्मा 141 रन बनाकर नॉट आउट रहे.

रोहित ने जहाँ टिककर बल्लेबाज़ी की तो वहीं विराट कोहली ने ताबड़तोड़ रन जुटाए. उन्होंने सिर्फ़ 52 गेंदों में 100 रन ठोंक दिए. इसमें सात छक्के और आठ चौके शामिल थे. ये किसी भी भारतीय का वनडे में सबसे तेज़ शतक है.

रोहित शर्मा ने 123 गेदों की अपनी पारी में 17 चौके और चार छक्के जमाए.

धवन भले ही शतक न मार पाए हों मगर उन्होंने 86 गेंदों में ही 95 रन बनाए थे. उसमें 14 चौके शामिल थे. ऑस्ट्रेलिया को सिर्फ़ उन्हीं का विकेट हाथ लगा. उन्हें जेम्स फ़ॉकनर की गेंद पर विकेट के पीछे ब्रैड हैडिन ने लपका.

वैसे हैडिन ने इससे पहले अपने आपको काफ़ी कोसा भी होगा क्योंकि धवन जब सिर्फ़ 18 रनों के निजी स्कोर पर थे तो उनका कैच हैडिन से छूट गया था. धवन और रोहित शर्मा ने मिलकर पहले विकेट के लिए 176 रन जोड़े.

ऑस्ट्रेलिया की पारी

मैच में टॉस जीतकर आस्ट्रेलियाई कप्तान जॉर्ज बेली ने पहले बल्लेबाजी का निर्णय लिया.

शीर्ष क्रम में सवाई मान सिंह स्टेडियम के मैदान पर उतरे ओपेनर बल्लेबाज एरॉन फिंच और फिलिप ह्यूज़ ने भारतीय गेंदबाजों की जमकर धुनाई की.

फिंच ने सात चौकों और एक छक्के की मदद से 50 रन बनाए और सुरेश रैना के हाथों रन आउट हो गए.

फिंच को 10वें ओवर में तब जीवन दान मिला जब युवराज सिंह ने उनका एक आसान कैच टपका दिया.

पिछले कुछ मैचों से अपने बल्ले से की करिश्मा न दिखा पाने वाले शेन वॉटसन इस मैच में फॉर्म में दिखे.

नहीं चले भारतीय गेंदबाज़

तीन छक्के और छह चौकों की मदद से उन्होंने 53 गेंदों में 59 रन बना डाला. विनय कुमार की गेंद पर वह ईशांत शर्मा के हाथों कैच आउट होकर पैवेलियन लौटे गए.

पांचवे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे ग्लेन मैक्सवेल ने भारतीय गेंदबाजी और क्षेत्र रक्षण की जमकर बखिया उधेड़ी.

उन्होंने सात चौकों और एक छक्के की मदद से महज 32 गेंदों पर 53 रनों की धुआंधार पारी खेली. लेकिन जल्दबादी में विकेट दे दिया. रैना ने उन्हें 46वें ओवर में कैच आउट कर दिया.

फिलिप ह्यूज़ ने भी धुआंधार बल्लेबाजी करते हुए 8 चौकों और एक छक्के की मदद से 103 गेंदों में 83 रन बनाए.वे अश्विन की गेंद पर धोनी के हाथों कैच आउट होकर पवेलियन लौटे.

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ज़ार्ज बेली ने आठ चौके और पांच छक्के की मदद से नाबाद 92 रन बनाए.

एडम वोजेज़ (11 रन) को विनय कुमार की गेंद पर बी कुमार ने कैच आउट किया. छठे क्रम पर आए ब्रैड हैडिन नाबाद (1) रहे.

भारतीय गेंदबाजों ने इस पारी में कुल 10 अतिरिक्त रन दिये.

इससे पहले, पुणे में खेले गए पहले वनडे में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 72 रन से हराया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार