विकेट को पढ़ने का हुनर जानते हैं सचिन

सचिन तेंदुलकर

क़माल की बात ये है कि सचिन 24 साल से क्रिकेट खेल रहे हैं और उनके अलावा किसी ने आज तक 200वां टैस्ट मैच खेला ही नहीं है. इतने लम्बे अर्से तक खेलना और इतने रन बनाना क़माल की बात है. ये एक बहुत बड़े करियर का अंत है जिसका जश्न मनाया जाना चाहिए.

सचिन में रनों की भूख रही है. उन्होंने एक साक्षात्कार में मुझे बताया था कि क्रिकेट के लिए तकनीक बहुत ज़रूरी है लेकिन आपको ये भी पता होना चाहिए कि रन बनाने के लिए तकनीक का इस्तेमाल आख़िर कैसे किया जाता है. उन्हें रन बटोरना आता है और वो विकेट को पढ़ना भी ख़ूब जानते हैं.

विवादों से परे

Image caption सचिन के नाम पर कभी कोई विवाद सुनने में नहीं आया

सचिन हर विकेट पर अलग तरीक़े से खेलते हैं. यही दो-तीन बातें मिलकर उन्हें इतना बड़ा खिलाड़ी बनाती हैं. भारत जैसे देश में जहां क्रिकेट के साथ विवाद जुड़े रहे हैं, वहां सचिन का किसी विवाद में नाम नहीं आना भी एक बड़ी बात है. ये भी एक वजह है कि लोग सचिन को इतने ऊंचे ओहदे पर बैठाते हैं.

सचिन की तुलना नहीं की जा सकती. भारतीय टीम में कई खिलाड़ी अच्छा खेल रहे हैं लेकिन फिर भी उनकी तुलना करना ठीक नहीं होगा. सचिन के दिमाग में क्या है, ये जानना मुश्किल है, लेकिन वो क्रिकेट के बिना नहीं रह सकते.

उनका बेटा भी क्रिकेट खेल रहा है. वो चाहेंगे कि उनका बेटा भारत के लिए खेले. वो इस तरह क्रिकेट से जुड़े रहेंगे. तकनीकी तौर पर भी सचिन क्रिकेट से जुड़े रह सकते हैं. सचिन से पहले भी कई बड़े खिलाड़ी हुए हैं, लेकिन किसी के भी पास सचिन जैसी उपलब्धियां नहीं हैं.

(बीबीसी संवाददाता शक़ील अख़्तर से बातचीत पर आधारित)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार