विदाई मैच में भी दिखा दम: सचिन 38 पर नाबाद

सचिन
Image caption सचिन तेंदुलकर 38 रन बनाकर खेल रहे हैं.

मुंबई टेस्ट में सचिन तेंदुलकर के प्रशंसकों की उम्मीदें परवान चढ़ती जा रही हैं. पहले दिन का खेल ख़त्म होने तक भारत ने दो विकेट खोकर 157 रन बना लिए हैं.

सचिन 38 रन बनाकर खेल रहे हैं और उनका साथ दे रहे हैं चेतेश्वर पुजारा. पुजारा ने 34 रन बनाए हैं.

अपना आखिरी टेस्ट खेलने उतरे सचिन ने शिखर धवन और मुरली विजय के आउट होने के बाद शानदार बल्लेबाज़ी की. सचिन ने अपने जाने-पहचाने अंदाज़ में बल्लेबाज़ी करते हुए छह चौके लगाए.

सचिन अपने पूरे रंग में दिख रहे हैं और टेस्ट करियर में 16,000 रन से 115 रन दूर हैं.

इससे पहले भारत की शुरुआत अच्छी रही. मुरली विजय और शिखर धवन ने पहले विकेट के लिए 77 रन जोड़े. शिखर धवन 28 गेंदों में 33 रनों की तेज़ पारी खेलकर शिलिंगफ़र्ड की गेंद पर आउट हुए.भारत के स्कोर में एक रन का इज़ाफ़ा भी नहीं हुआ था कि मुरली विजय भी शिलिंगफ़र्ड की गेंद पर आउट हो गए.

इसके बाद हज़ारों दर्शकों की तालियों के बीच मैदान पर उतरे सचिन ने पुजारा के साथ शानदार साझेदारी की. और स्कोर में 80 रन जोड़े.

वेस्ट इंडीज़ सस्ते में निपटी

Image caption ओझा और अश्विन ने मिलकर वेस्ट इंडीज़ की पहली पारी में आठ विकेट लिए.

इससे पहले मुंबई टेस्ट में वेस्ट इंडीज़ की पहली पारी 182 रन पर ख़त्म हो गई. वेस्ट इंडीज़ के लिए किरेन पॉवेल ने सबसे ज़्यादा 48 रन बनाए.

वेस्ट इंडीज़ के बल्लेबाज़ भारतीय स्पिनरों के सामने नहीं टिक सके.

भारत के लिए प्रज्ञान ओझा ने सबसे ज़्यादा पांच विकेट लिए.

अश्विन ने तीन विकेट लिए, भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी को एक-एक विकेट मिला.

लंच तक वेस्ट इंडीज़ के 93 रन पर दो विकेट थे. लेकिन लंच के बाद वेस्ट इंडीज़ की पारी लड़खड़ा गई और उसने सिर्फ़ 89 रन जोड़ कर बाकी के सात विकेट खो दिए.

लंच के बाद ढेर

Image caption वानखेड़े स्टेडियम में दर्शकों में सचिन के आखिरी मैच को लेकर ज़बरदस्त उत्साह है.

लंच के बाद वेस्ट इंडीज़ को पहला झटका पॉवेल के आउट होने से लगा. पॉवेल को ओझा ने आउट किया.

पॉवेल के आउट होने के बाद सैम्युल्स और चंद्रपॉल ने 43 रन की साझेदारी की. लेकिन सैम्युल्स को भी ओझा ने आउट कर दिया.

इसके बाद चंद्रपॉल, देवनारायण और सामी भी आउट हो गए. वेस्ट इंडीज़ के आखिरी के तीन बल्लेबाज़ों, शिलिंगफ़ोर्ड, बेस्ट और गैब्रिएल को भी ओझा ने पैवेलियन भेज दिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार