क्रिकेट: भारत ने गवाँई एक दिवसीय श्रृंखला

  • 8 दिसंबर 2013
एबी डिविलियर्स और महेंद्र सिंह धोनी

भारत और दक्षिण अफ़्रीका के बीच डरबन में खेले गए दूसरे एकदिवसीय क्रिकेट मैच में दक्षिण अफ़्रीका ने भारत को 136 रन से करारी मात दी.

दक्षिण अफ़्रीका ने छह विकेट खोकर भारत को 280 रन का लक्ष्य दिया था लेकिन भारतीय टीम 35 ओवर और एक गेंद पर ही ऑल आउट हो गई.

भारत की तरफ से सुरेश रैना ने सबसे अधिक 36 रन बनाए.

शिखर धवन और विराट कोहली बिना कोई रन बनाए पवेलियन लौट गए.

फील्डिंग का फैसला

Image caption महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि बल्लेबाज़ यह सही निर्णय नहीं ले पाए कि उन्हें कैसा शॉट लगाना है.

कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 31 गेंदों पर 19 रन बनाए. 49 ओवर के इस मैच में भारत ने टॉस जीतकर पहले फील्डिंग का फैसला किया था.

दक्षिण अफ़्रीका की तरफ से सलामी बल्लेबाज़ क्यू दे कॉक ने 106 रन बनाए और हाशिम अमला ने भी शतक लगाया.

हार के बाद महेंद्र सिंह धोनी ने कहा, "गेंदबाज़ों ने पिछली बार से सीख लेकर ठीक प्रदर्शन किया लेकिन बल्लेबाज़ यह सही निर्णय नहीं ले पाए कि उन्हें कैसा शॉट लगाना है."

दक्षिण अफ़्रीका के कप्तान एबी डिविलियर्स ने कहा, "यह एक भावुक दिन रहा. हम लंबे समय से लगातार जीत चाह रहे थे. पहले स्थान पर क़ाबिज़ टीम के सामने ऐसा प्रदर्शन करना बेहतरीन है."

इससे पहले गुरूवार को जोहानसबर्ग में खेले गए पहले मैच में दक्षिण अफ़्रीका ने भारत को 141 रनों से हराया था.

ख़राब रिकॉर्ड

भारतीय क्रिकेट टीम का रिकॉर्ड विदेशों में, ख़ासकर दक्षिण अफ़्रीका में, बेहद ख़राब रहा है.

भारत का दक्षिण अफ़्रीका से उसी की ज़मीन पर 26 बार एकदिवसीय क्रिकेट में आमने-सामने हुआ है और 20 मैचों में उसे हार का सामना करना पड़ा है. भारत को अभी तक केवल पाँच मैचों में ही जीत नसीब हुई है.

इससे पहले साल 1992-93 में भी डरबन भारत के लिए कम डरावना साबित नही हुआ था.

उस वक्त सात मैचों की सिरीज़ के छठे मैच में भारत का पुलिंदा 177 रनों पर बंध गया था जबकि जीत के लिए उसे 217 रनों की ज़रूरत थी.

साल 2010-11 के अपने पिछले दौरे में भी भारत कुछ विशेष नही कर सका और 35.4 ओवर में 154 रन ही बना पाया था और दक्षिण अफ़्रीका ने उसे 135 रनों से हार का स्वाद चखाया था.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार