डरबन टेस्ट: भारतीय टीम मुश्किल में

कालिस, दक्षिण अफ़्रीका

डरबन टेस्ट में भारतीय पारी मुश्किल में नज़र आ रही है. दूसरे टेस्ट के चौथे दिन भारत ने अपनी दूसरी पारी में दो विकेट गंवा दिए हैं. खेल ख़त्म होने तक भारत ने दो विकेट खोकर 68 रन बना लिए थे.

चेतेश्वर पुजारा 32 और विराट कोहली 11 रन बनाकर क्रिज़ पर जमे हुए हैं.

चौथे दिन भारत की दूसरी पारी की शुरूआत अच्छी नहीं रही.

ओपनिंग बल्लेबाज़ मुरली विजय सिर्फ़ छह रन बनाकर फ़िलेंडर की गेंद पर आउट हो गए, तब भारत का स्कोर सिर्फ़ आठ रन था.

मुरली विजय ने पहली पारी में 97 रन की शानदार पारी खेली थी.

मुरली के बाद शिखर धवन और चेतेश्वर पुजारा ने 45 रन जोड़े लेकिन धवन रॉबिन पीटरसन की गेंद पर 19 रन बनाकर आउट हो गए. उनके बाद कोहली आए लेकिन उन्होंने दक्षिण अफ़्रीका को कोई और मौक़ा नहीं दिया और पुजाार के साथ मिलकर मैदान में डटे रहे. इस तरह भारत अभी भी दक्षिण अफ़्रीका से 98 रनों से पीछे है.

इससे पहले दक्षिण अफ़्रीका की पहली पारी 500 रन पर ख़त्म हुई. रविवार को दक्षिण अफ़्रीका ने तीसरे दिन के स्कोर पांच विकेट पर 299 रन से आगे खेलना शुरू किया.

दक्षिण अफ़्रीका के लिए अपना आख़िरी टेस्ट खेल रहे जैक कैलिस ने शतक जमाया. कैलिस ने 13 चौकों की मदद से 115 रन बनाए.

कैलिस अब टेस्ट में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ों की सूची में तीसरे नंबर पर आ गए हैं. उन्होंने सबसे ज़्यादा रन बनाने में भारत के पूर्व बल्लेबाज़ राहुल द्रविड़ को पीछे छोड़ दिया.

कैलिस ने 166 टेस्ट में 13,289 रन बनाए हैं जबकि द्रविड़ ने 164 टेस्ट में 13,288 रन बनाए थे. कैलिस से आगे अब सिर्फ़ सचिन तेंदुलकर और रिकी पॉन्टिंग हैं.

चौथे दिन दक्षिण अफ़्रीका के लिए पहला सत्र अच्छा रहा. कैलिस और स्टेन ने मिलकर छठे विकेट के लिए 86 रन जोड़े. हालांकि कैलिस के आउट होने के बाद स्टेन भी कुल स्कोर में सिर्फ़ तीन रन जोड़कर आउट हो गए. स्टेन ने 44 रन बनाए.

जाडेजा के छह विकेट

स्टेन के आउट होने के बाद डुप्लेसिस और रॉबिन पीटरसन ने आठवें विकेट के लिए 110 रन जोड़े और स्कोर को 497 रन तक ले गए. पीटरसन ने 61 और डुप्लेसिस ने 43 रन बनाए. इन दोनों के आउट होने के बाद मॉर्केल 500 के स्कोर पर जाडेजा के शिकार बने.

दक्षिण अफ़्रीका ने पहली पारी के आधार पर 166 रन की बढ़त बनाई.

भारत के लिए रवींद्र जाडेजा ने शानदार गेंदबाज़ी की. जडेजा ने छह विकेट लिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार