सोचीः 'समलैंगिकों का स्वर्ग'

रूस के सोची में शीत ओलंपिक

रूस में काले सागर के तट पर स्थित शहर सोची में शुक्रवार से शीत ओलंपिक खेल शुरू हो रहे हैं लेकिन क्या आप सोची की उन ख़ूबियों के बारे में जानते हैं, जो इस शहर को ख़ास बनाती हैं.

यहां हम आपको सोची के बारे में पांच ऐसी रोचक बातें बता रहे हैं, जिसके बारे में शायद आपको पता न हो:

1. वास्तव में ओलंपिक सोची में नहीं हो रहे

शीतकालीन ओलंपिक का आयोजन सोची में न होकर, उसके दो उपनगरीय इलाक़ों एडलर और क्रासनाया पोल्याना में किया जा रहा है. एडलर समुद्र के किनारे है जबकि क्रासानाया पोल्याना पहाड़ों के बीच स्थित है.

ग्रेटर सोची काले सागर के तट पर 90 मील लंबाई में फैला हुआ है और दावा किया जाता है कि ये यूरोप का सबसे लंबा शहर है.

वास्तव में जिस जगह पर ओलंपिक का आयोजन किया जा रहा है वो अब्खाज़िया के नजदीक है. अब्खाज़िया पूर्वी पट पर स्थित एक विवादित क्षेत्र है, जो ख़ुद को स्वतंत्र राज्य मानता है.

2. समलैंगिकों का स्वर्ग

इमेज कॉपीरइट AFP

सोवियत संघ के दौर में सोची बड़ी संख्या में समलैंगिकों यानी गे लोगों का अड्डा बन गया था. साल 1993 तक रूस में समलैंगिक संबंधों को अपराध माना जाता था.

ऐसे में समलैंगिक रुझान वाले लोग सोची आना अधिक पसंद करते थे. उनके लिए सोची जाना आसान था और ये स्थान उनके परिवारों और मित्रों की नज़र से काफ़ी दूर था.

सोची के दरवाजे आज भी ऐसे गे लोगों के लिए खुले हैं, जिन्हें उनके समाज में पसंद नहीं किया जाता है और जो विदेश यात्रा का ख़र्च नहीं उठा सकते हैं.

3. सोची ने दिए दो टेनिस चैंपियन

सोची पहली बार शीत ओलंपिक की मेजबानी कर रहा है, लेकिन वास्तव में यहां टेनिस जैसे गर्मियों के खेल अधिक लोकप्रिय हैं. ख़ासतौर से बच्चे और जवान यहां साल भर टेनिस की प्रैक्टिस करते हैं.

दुनिया की शीर्ष टेनिस खिलाड़ी रह चुकीं मारिया शारापोवा और येवगेनी काफेलनिकोव, दोनों को सोची में ही पहली सफलता मिली थी. काफेलनिकोव का जन्म सोची में ही हुआ था, जबकि शारापोवा का जन्म साइबेरिया में हुआ था. लेकिन जब वो चार साल की थीं तो उनके माता-पिता सोची आ गए थे.

शारापोवा ने शुरुआती प्रशिक्षण सोची में ही लिया, जिसके बाद वो अमरीका के फ्लोरिडा चली गईं. उनकी दादी अभी भी सोची में रहती हैं और शारापोवा सोची ओलंपिक में एक टीवी संवाददाता की भूमिका में नजर आएंगी.

4. सोची का शीर्ष खिलाड़ी

इमेज कॉपीरइट AFP

सोची का केवल एक खिलाड़ी ही अपनी धरती पर हो रहे ओलंपिक खेलों में शामिल हो रहा है. ये खिलाड़ी एलेक्सी वोएवोदा हैं.

वोएवोदा एक पेशेवर आर्म रेसलर हैं और उनके नाम कई ख़िताब हैं. वो 2011 में बोबस्लेय में वर्ल्ड चैंपियन थे और उन्होंने ट्यूरिन ओलंपिक में रजत और वैंकूवर ओलंपिक में कांस्य पदक जीता.

सोची में वो दो-पुरुष और चार-पुरुष स्पर्धा में प्रमुख ब्रेकमैन होंगे. इस स्पर्धा में रूस को पदक हासिल करने की काफ़ी उम्मीद है.

5. सबसे बड़ा फ़िल्म महोत्सव

सोची में पिछले दो दशक से रूसी फ़िल्म महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है. इस आयोजन का नाम 'किनोत्वर' है.

यह रूस का सबसे बड़ा फिल्म महोत्सव है और इसका मुख्यालय जानेमाने होटल जेमचुझीना में है. इस होटल को 1973 में बनाया गया था और सोची घूमने आने वाले प्रसिद्ध संगीतकार इसी होटल में ठहरते थे.

इस होटल में अभी भी सोवियत स्टाइल की सजावट है. इस फ़िल्म महोत्सव के दौरान कई पापराजी समुद्र तटों पर फुर्सत के क्षण बिता रहे फ़िल्मी सितारों की तस्वीर खींचने की ताक में रहते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार